Friday, 25 October 2019

सिम्स बनेगा चिकित्सा के क्षेत्र में उत्कृष्टता की मिसाल : मुख्यमंत्री कमल नाथ



मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आज छिन्दवाड़ा में छिन्दवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (सिम्स) का निरीक्षण कर बेहतर व्यवस्थाओं तथा कैंपस सौंदर्यीकरण के दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने सिम्स में पूर्व डीन स्व. डॉ. एच.के.टी. रजा की स्मृति में बनाये गये ऑडिटोरियम का लोकार्पण किया और प्रशासकीय समिति की बैठक भी ली।
मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि लगभग पाँच वर्ष पहले मैंने छिन्दवाड़ा में मेडिकल कॉलेज का सपना देखा था। यह सपना अब साकार होने जा रहा है। इस इंस्टीट्यूट को सच्चे अर्थों में स्थापित करने और आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी अब फैकल्टी और स्टाफ की है। उन्होंने कहा कि शुरूआत से ही अनुशासित वर्क कल्चर और मानक स्तर की गुणवत्ता सुनिश्चित की जाये, जिससे इंस्टीट्यूट को उत्कृष्टता की मिसाल के रूप में प्रस्तुत किया जा सके। मुख्यमंत्री ने स्व. डॉ. रजा को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि इंस्टीट्यूट को प्रारंभ करने में उनका समर्पण भाव और उनकी सोच बहुत अहम् रही है। अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने इंस्टीट्यूट को गुणवत्तापूर्ण एवं मानक स्तर तक पहुँचाने की दिशा में हर संभव प्रयास किये। हम सभी को मिलकर उनकी इस सोच और मंशा को आगे ले जाना है। कमल नाथ ने डीन डॉ. रामटेके को इंस्टीट्यूट में फैकल्टी और स्टाफ के रिक्रूटमेंट में गुणवत्ता से किसी भी तरह का कोई समझौता नहीं करने के सख्त निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जब फैकल्टी का स्तर अच्छा होगा, तभी वे विद्यार्थियों को उच्च स्तर की शिक्षा दे सकेंगे। सिम्स के निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने परिसर की साफ-सफाई पर विशेष जोर दिया और कहा कि गुणवत्ता से किसी तरह का समझौता न किया जाए।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.