Sunday, 25 February 2018

विधानसभा चुनाव हेतु उम्मीदवारी करने वाले अपने पद छोड़कर अभी से लग जाये काम पर, दिखायें जमीनी पकड़ : दीपक बावरिया


विधानसभा चुनाव हेतु उम्मीदवारी करने वाले अपने पद छोड़कर अभी से लग जाये काम पर, दिखायें जमीनी पकड़ : दीपक बावरिया

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के सभाकक्ष में आज प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारियों, जिला/ शहर कांग्रेस अध्यक्षांे एवं विधायकों, मोर्चा संगठनों/ विभागों के प्रदेश अध्यक्षों, जिला पंचायत, नगर पालिका, नगर परिषद के अध्यक्षों की अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव (प्रदेश प्रभारी) श्री दीपक बावरिया ने संयुक्त बैठक ली, बैठक में अभा कांग्रेस कमेटी के सचिवद्वय (प्रदेश प्रभारी) श्री संजय कपूर एवं श्री जुबेर खान, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अरूण यादव, विधानसभा में उपाध्यक्ष श्री राजेन्द्रसिंह, कोषाध्यक्ष श्री विनोद डागा, मोर्चा संगठनों/विभागों के प्रदेश अध्यक्षगण श्री योगश यादव, मांडवी चौहान, विपिन बानखेड़े, विधायकगण सर्वश्री बाला बच्चन, मुकेश नायक, सुंदरलाल तिवारी, सुरेन्द्रसिंह ठाकुर, प्रेमचंद गुड्डू सहित बड़ी संख्या में विधायकगण, कांग्रेस पदाधिकारी व जिला अध्यक्षगण उपस्थित थे।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अरूण यादव ने बैठक में उपस्थित प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारियों, जिला अध्यक्षों एवं जनप्रतिनिधियों का स्वागत करते हुए उन्हें संगठनात्मक एवं चुनावी गतिविधियों में सक्रियता बढ़ाने एवं भाजपा सरकार के खिलाफ संघर्ष करने का आव्हान किया। 
अभा कांग्रेस महासचिव श्री बावरिया ने विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर आमंत्रित जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि जो व्यक्ति चुनाव लड़ना चाहता है, वह पूरी तैयारी के साथ कम से कम 1 महीने अपने क्षेत्र में भाजपा सरकार के खिलाफ मुद्दों को उठायें, मीडिया से मुखर रहे, सभी स्तर के कांग्रेसजनों को साथ लेकर चले, साथ ही सबसे मुख्य बात है कि वह बूथ स्तर पर अपने सक्रिय एजेंटे तैयार करें। उन्हांेेने कहा कि किसी की सिफारिश, और शक्ति प्रदर्शन, ढोल पीटने और जिंदाबाद-मुर्दाबाद के नारे से परहेज करें। उम्मीदवारी जताने वाले व्यक्ति रंगपंचमी के शुभदिन से अपने आवेदन प्रदेश कांग्रेस में प्रस्तुत कर सकते है। उन्होंने कहा कि जमाना बदल गया है, अब बैलगाड़ी का नहीं, हवाई जहाज, बुलेट ट्रेन का जमाना है, धीमी गति से काम नहीं चलेगा। ईमानदार उम्मीदवार, जो फंड से कमजोर है की अभा कांग्रेस कमेटी फंड की व्यवस्था करेगी, जिससे उसकी उम्मीदवारी प्रभावित न हो सके। श्री बावरिया ने कहा कि 12 मार्च को कांग्रेस पार्टी प्रदेशस्तरीय विधानसभा का घेराव करेेगी, जिसमें सभी कांग्रेसजन बड़ी संख्या में शामिल होंगे साथ ही कल से चालू होने वाले विधानसभा सत्र में राज्यपाल के अभिभाषण में शिवराज सरकार द्वारा झूठ के खिलाफ कांग्रेस विधायक विरोध करेंगे।
श्री बावरिया ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि संगठन में ब्लाक, मण्डलम, बूथ और सेक्टर के गठन में पूरे प्रदेश में अच्छी सफलता सामने आई है। संगठन में जिम्मेदारी तय करने, बूथ कमेटी, मतदाता सूची, बीएलए की नियुक्ति के साथ-साथ, चौपाल मीटिंग के माध्यम से कांग्रेस नेताओं को कांग्रेस के पक्ष में बात करने पर भी जोर दिया। प्रदेश कांग्रेस ने पार्टी के विभिन्न प्रतिनिधियों को पार्टी फंड के लिए प्रस्ताव पारित किया। 
प्रदेश कांग्रेस ने बैठक में अंहकारी भाजपा सरकार के खिलाफ 06 प्रस्ताव पारित किये, जिसमें  (1) किसान विरोधी सरकार प्रस्ताव मंे प्रदेश में ओलावृष्टि एवं अतिवृष्टि के कारण प्रदेश के किसानों की बड़े पैमाने में बबार्द फसलें, कृषि ऋण न चुका सकने के कारण किसानों द्वारा एक वर्ष में सैकड़ों की संख्या में आत्महत्याऐं शामिल है। किंतु इस विपदा की घड़ी सरकार किसान के आंसू पोंछने की जगह उनके साथ छलावा कर रही है। (2) कोलारस-मुंगावली में भाजपा द्वारा लोकतंत्र की हत्या कर सत्ता हथियाने का प्रयास किया जा रहा है, भाजपा सरकार चुनाव मंे विजयी होने के लिए हर तरह के हथकंडे अपना रही है, ऐन-केन-प्रकारेण सत्ता पर कब्जा बनाये रखना चाहती है, प्रदेश एवं जिला स्तर पर मतदाता सूचियों में हुई गडबडि़यों के लिए अभियान चलाया जायेगा। (3) देश-प्रदेश में भ्रष्टाचार का निरंतर चक्रव्यूह फैल रहा है, प्रदेश भ्रष्टाचार का पर्याय बन गया है, प्रदेश का बजट सिर्फ मुख्यमंत्री की ब्रांडिंग में खर्च हो रहा है, डम्पर, व्यापमं, सिंहस्थ, अवैध उत्खनन, पौधा रोपण, कुपोषण, परिवहन भर्ती, मध्यान्ह भोजन, राशन कार्ड, निराश्रित, विधवा पेंशन, मनरेगा, शौचालय, स्वच्छ भारत अभियान, बुंदेलखंड पैकेज, हाउसिंग, गेहूं खरीदी एवं सहकारी बैंकों सहित 156 घोटाले की प्रदेश सरकार कटघरे में खड़ी हुई है।
(4) कर्मचारी विरोधी प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा शासकीय एवं अशासकीय कर्मचारियों को उनके हितों के संरक्षण हेतु को कार्य नहीं किये गये उन्हें उचित सुविधाएं, वेतनमान समय पर दिया जावे, नियमितीकरण एवं वेतन विसंगतियों को दूर किया जाये।  (5) ईपीएफ, पेंशन अंशधारी कर्मचारियों/ अधिकारियों के साथ ब्याज दर कम कर आर्थिक शोषण का विरोध करने के संबंध में भी प्रस्ताव पारित किया गया। (6) अजा-अजजा, अल्पसंख्यकों, महिला, श्रमिकों पर भाजपा सरकार द्वारा अत्याचार बढ़े है। भाजपा सरकार इन वर्गों के मौलिक अधिकारों की सुरक्षा करने में असफल साबित हुई है। संपत्ति की खरीद-फरोख्त कानून-नियमों के विपरीत भूमाफियाओं पर सरकार का संरक्षण प्राप्त है, जिसमें पीडि़त-शोषितों पर कोई कार्यवाही सरकार द्वारा नहीं की जा रही है। यूपीए सरकार द्वारा 2005 में आदिवासियों के हितों के लिए वनाधिकार कानून बनाया गया था, परन्तु भाजपानीत सरकार द्वारा इस कानून की अनदेखी की जा रही है। इन वर्गों में भय और आतंक का वातावरण निर्मित किया जा रहा है। इन वर्गों को न्याय मिलना चाहिए।  बैठक का संचालन प्रदेश कांग्रेस के संगठन प्रभारी महामंत्री श्री चंद्रिका प्रसाद द्विवेदी ने किया।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.