Sunday, 25 February 2018

टी-20 में 'मैन ऑफ द मैच' रहे रैना ने कहा, पहले 6 ओवर महत्वपूर्ण


टी-20 में 'मैन ऑफ द मैच' रहे रैना ने कहा, पहले 6 ओवर महत्वपूर्ण


भारतीय टीम में लंबे समय बाद वापसी करने वाले बल्लेबाज सुरेश रैना ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अंतिम टी-20 मैच में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। तीसरे टी-20 मैच में भले ही वह अर्धशतक लगाने से चूक गए हो, लेकिन उन्होंने टीम को एक ठोस शुरुआत देने का काम बखूबी किया। एक बार फिर रोहित शर्मा के जल्दी आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए रैना ने जूनियर डाला के पहले ही गेंद पर छक्का जड़ साफ कर दिया कि वो आक्रमक मानसिकता से साथ बल्लेबाजी करने उतरे हैं।
रैना ने कहा, 'टी-20 में पहले छह ओवर बेहद महत्वपूर्ण होते हैं। ऐसे में अगर आप इन पहले छह ओवरों में तेजी से रन बना लेते हैं तो मैच पर आपकी पकड़ बन जाती है। इस दौरान बल्लेबाज अगर तेजी से रन बनाने में सफल नहीं रहता तो टीम मैच में पिछड़ जाती है। बल्लेबाजी के दौरान मुझे खुलकर खेलने की छूट थी और मैंने बस अपना काम किया।' 27 गेंदों पर खेली 43 रनों की पारी खेलने वाले रैना ने विराट कोहली और रवि शास्त्री को शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि इन्होंने सीरीज के दौरान मुझे खुलकर बल्लेबाजी करने की आजादी दी।
उन्होंने कहा, 'वनडे सीरीज जीतने के बाद ड्रेसिंग रूम का माहौल काफी अच्छा था। जिस वजह से टी-20 मैचों के दौरान खिलाडि़यों का मनोबल बढ़ा हुआ था। विराट शानदार कप्तान हैं, वो सकारात्मक सोच के साथ मैच खेलने उतरते हैं। इसके अलावा सपोर्ट स्टाफ ने भी खिलाडि़यों के अंदर कुछ अलग करने का हौसला बढ़ाया। यही वजह है कि भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहली बार उसी के सरजमीं पर दो ट्रॉफी अपने नाम करने में कामयाब रही।' बल्लेबाजी के अलावा इस मैच में रैना ने तीन ओवर की गेंदबाजी भी की, जिस दौरान उन्होंने 27 रन देकर एक विकेट हासिल किया।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.