Monday, 5 March 2018

भ्रष्टाचार को लेकर सरताज सिंह के बहुप्रचारित कथन ‘जीरो टॉलरेंस’ की खोली पोल : के.के. मिश्रा


भ्रष्टाचार को लेकर सरताज सिंह के बहुप्रचारित कथन जीरो टॉलरेंस की खोली पोल : के.के. मिश्रा


प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता श्री के.के. मिश्रा ने गत् दिनों अपमान जनक तरीके से प्रदेश मंत्रिमंडल से हटाये गये पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा के वरिष्ठतम नेता एवं विधायक श्री सरताजसिंह के उस कथन और रहस्योद्घाटन को गंभीर मामला बताया है, जिसमें उन्होंने अपनी अस्वस्थता के दौरान लगाये गये मेडीकल बिल के भुगतान हेतु रिश्वत मांगे जाने की बात कही है।
श्री मिश्रा ने कहा कि विडम्बना तो इस बात की है कि भ्रष्टाचार को लेकर प्रदेश के मुखिया श्री शिवराजसिंह चौहान लगातार न केवल जीरो टॉलरेंसकी बात करते हैं, वहीं भाजपा सरकार ने कांग्रेस पार्टी के सहयोग से भ्रष्टाचार विरोधी अधिनियम-2011पारित करवाकर भ्रष्टाचार उन्मूलन की दिशा में इसे बहुप्रचारित भी किया था, किंतु इन सबके चलते भाजपा के ही वरिष्ठतम नेता श्री सरताज सिंह के साथ भ्रष्टाचारियों के गठजोड़ ने बड़े साहस के साथ जो खेल खेला है, वह भ्रष्टाचार को लेकर मुख्यमंत्री के दावों पर एक गहरी चोट हैं, मुख्यमंत्री को इस घटना पर विशेष संज्ञान लेते हुए उन चेहरों को सार्वजनिक कर पारदर्शी ढंग से दंडित भी करना चाहिए, जो भ्रष्टाचार की जड़ों को अपनी साहसिक, आपराधिक उर्वरा से सिंचित कर रहे हैं। श्री मिश्रा ने मुख्यमंत्री से श्री सरताज सिंह के इस गंभीर कथन पर सरकार की स्थिति भी स्पष्ट करने को कहा है।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.