Saturday, 22 February 2020

कृषि विश्वविद्यालय का मंडप राष्ट्रीय किसान मेले में होगा आकर्षण का केन्द्र



रायपुर ! कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा 23 से 25 फरवरी तक ग्राम तुलसी-बाराडेरा में आयोजित होने वाले तीन दिवसीय राष्ट्रीय कृषि मेले में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर द्वारा राज्य के किसानों की बेहतरी के लिए संचालित विभिन्न योजनाआंे, कार्यक्रमों एवं गतिविधियों को प्रदर्शित किया जाएगा। विश्वविद्यालय के मंडप में कृषि विश्वविद्यालय में किये जा रहे अनुसंधान कार्याें, नवीन किसानोपयोगी तकनीकों, विश्वविद्यालय द्वारा विकसित विभिन्न फसलों की नवीन किस्मों, कृषि यंत्रों एवं उपकरणों, खाद्य प्रसंस्करण प्रविधियों तथा नवाचारों की झलक देखने को मिलेगी। यहां कृषि की उन्नत तकनीकों एवं प्रविधियों का जीवंत प्रदर्शन भी किया जाएगा। यहां विश्वविद्यालय के विभिन्न कृषि विज्ञान केन्द्रों के मार्गदर्शन में संचालित किसान उत्पादक संगठनों एवं स्व-सहायता समूहों द्वारा उत्पादित सामग्रियों का विक्रय भी किया जाएगा।
कृषि विज्ञान केन्द्र कोरिया के स्टॉल में दुग्ध प्रसंस्करण तकनीक का प्रदर्शन
    राष्ट्रीय किसान मेला में कृषि विज्ञान केन्द्र कोरिया के मार्गदर्शन में गठित कोरिया एग्रो प्रोड्यूसिंग कंपनी लिमिटेड का स्टाल लगाया जाएगा। इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित कृषि विज्ञान केंद्र कोरिया के तकनीकी मार्गदर्शन में गठित तथा भारत सरकार से पंजीकृत किसान उत्पादक संगठन ‘‘कोरिया एग्रो प्रोडूसिंग कंपनी लिमिटेड’’ द्वारा क्रियान्वित दुग्ध उत्पादक समूहों व जिले के अन्य दुग्ध उत्पादकों से प्रति दिन 100 से 150 लीटर दूध का संग्रहण किया जाता है। इस संग्रहित दूध से घी, खोवा एवं पनीर आदि उत्पाद तैयार किए जा रहे हैं। कृषि विज्ञान केंद्र कोरिया में स्थापित दुग्ध प्रसंस्करण एवं मूल्य वर्धन इकाई में प्रति दिन 500 लीटर दूध का प्रसंस्करण किया जाता है। ‘‘कोरिया एग्रो प्रोडूसिंग कंपनी लिमिटेड’’ के किसान उत्पादक संगठन द्वारा उत्पादित दुग्ध पदार्थाें का विक्रय शासकीय एवं अशासकीय संस्थानों से जोड़कर विपणन किया जा रहा है।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.