Thursday, 31 January 2019

इलैक्ट्रॉनिक कांटों से 20 लाख मीट्रिक टन धान की रिकार्ड खरीदी : मंत्री प्रद्दुमन सिंह तोमर

खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण मंत्री प्रद्दुमन सिंह तोमर ने बताया है कि प्रदेश में इस वर्ष समर्थन मूल्य पर धान की 20 लाख मीट्रिक टन से अधिक रिकार्ड खरीदी की गई है। इसके एवज में 3 लाख 61 हजार 690 किसानों के बैंक खातों में 3634 करोड़ 69 लाख रूपये की राशि जमा कराई गई है। इस वर्ष की गई धान की खरीदी पिछले 6 वर्षों में सर्वाधिक है।
धान खरीदी एक नजर में
प्रदेश में कुल किसान - 3, 61, 690
धान की खरीदी - 20, 76, 962 मीट्रिक टन
प्रति क्विंटल खरीदी दर - 1750/-
किसानों को भुगतान- 3634 करोड़ 69 लाख 22 हजार रुपये
'जस्ट-इन-टाइम' साफ्टवेयर के माध्यम से सीधे किसानों के खातें में जमा
राज्य शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए प्रदेश में 951 केन्द्रों बनाये गये। नागरिक आपूर्ति निगम और मार्कफेड द्वारा इन केन्द्रों पर इलैक्ट्रॉनिक कांटों के माध्यम से धान खरीदी का कार्य सम्पन्न किया गया। मंत्री तोमर ने बताया कि किसानों से की गई खरीदी के एवज में 1750 रूपये प्रति क्विंटल के मान से भुगतान की राशि 'जस्ट-इन-टाइम' साफ्टवेयर के माध्यम से सीधे किसानों के खातों में जमा कराई गई। प्रमुख सचिव खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण नीलम शमी राव ने बताया कि गत 6 वर्षों में इस वर्ष धान की रिकार्ड खरीदी की गई है। उन्होंने बताया‍कि वर्ष 2013-14 में 2 लाख 86 हजार किसानों से 156 लाख मीट्रिक टन, वर्ष 2014-15 में 2 लाख 34 हजार किसानों से 120 लाख मीट्रिक टन, वर्ष 2015-16 में 2 लाख 43 हजार किसानों से 126 लाख 50 हजार मीट्रिक टन, वर्ष 2016-17 में 2 लाख 87 हजार किसानों से 196 लाख 12 हजार मेट्रिक टन, वर्ष 2017-18 में 2 लाख 82 हजार किसानों से 165 लाख 90 हजार मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई थी। खरीदी की एवज में किसानों को 2276 करोड़ 25 लाख रूपये राशि का भुगतान किया गया था। इस वर्ष 3634 करोड़ 69 लाख रूपये की राशि का भुगतान किसान भाईयों को सीधे उनके बैंक खातों में किया गया है।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.