Sunday, 3 June 2018

सरकार किसानों का दमन बंद करे, अन्यथा कांग्रेस चुप नहीं बेठेगी- कमलनाथ

सरकार किसानों का दमन बंद करे, अन्यथा कांग्रेस चुप नहीं बेठेगी- कमलनाथ

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा है कि प्रदेश के किसान शांतिपूर्ण ढंग से अपना पूर्व घोषित आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन शिवराज सरकार उनके दमनचक्र पर उतारू हैं। आंदोलन के पूर्व हजारों सीधे-साधे किसानों से शांति भंग के बांड भरवाये गये और उन्हें धमकाया भी गया। पूर्व से ही हैरान-परेशान किसान इन सब बातों को सहता रहा। लेकिन शिवराज सरकार का दमनचक्र और बढ़ता जा रहा है।
कमलनाथ ने कहा कि शिवराज सरकार अपना दमचक्र चलाते हुए शांतिपूर्ण तरीके से अपना आंदोलन कर रहे बेकसूर किसानों पर निरंतर झूठे मुकदमे डाल जेलों में ठूसने का काम कर रही है। जगह-जगह नाकेबंदी कर किसानों को रोककर उनकी तलाशी ली जा रही है, उन्हें परेशान किया जा रहा है और धमकाया भी जा रहा है।
कमलनाथ ने कहा कि मंडियों में आने-जाने वाले किसानों को भी रोककर धमकाया व परेशान किया जा रहा है। ऐसा लग रहा है कि प्रदेश में किसानों के लिए अघोषित आपातकाल लागू हो चुका है। उन्हें विरोध करने का अधिकार ही नहीं बचा है। किसानों की आवाज को कुचला जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों को लोकतंत्र में मिले शांतिपूर्ण विरोध के अधिकार को शिवराज सरकार कुचल रही है। प्रदेश में पहली बार ऐसी स्थिति देखने को मिल रही है। किसान पुत्र के राज में आंदोलनरत किसानों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है।
कमलनाथ ने शिवराज सरकार को चेतावनी दी है कि वे किसानों पर हो रहे दमनचक्र को अविलंब रोके, उनकी वाजिब मांगों पर शीघ्र निर्णय लें। अन्यथा कांग्रेस किसानों का दमनचक्र बर्दाश्त नहीं करेगी व मुंहतोड़ जबाव देगी।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.