Friday, 3 April 2020

जिले में अस्थायी राहत शिविरों के माध्यम से आश्रय विहीन को दी जा रही है आवश्यक सभी सुविधाएं


कोरिया ! छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग, मंत्रालय महानदी भवन, नवा रायपुर अटल नगर के द्वारा नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण से रोकथाम हेतु राज्य आपदा मोचन निधि से बे-घर बार व्यक्तियों तथा लाकडाउन के कारण प्रभावित प्रवासी श्रमिकों के लिए अस्थायी राहत शिविरों का आयोजन करने के निर्देश जारी कर दिये गये हैं। जिसके परिपालन में कलेक्टर डोमन सिंह के मार्गदर्शन में जिले में 10 सर्वसुविधायुक्त अस्थायी राहत शिविरों का निर्माण कर 245 आश्रयविहीन व्यक्यिों को सभी आवश्यक सुविधाएं दी जा रही है।


कोरिया जिले के विकासखण्ड बैकुण्ठपुर के नगर पालिका परिषद बैकुण्ठपुर के मानस भवन में 10, ग्राम पंचायत पटना के सामुदायिक भवन में 36, एसईसीएल बैकुण्ठपुर के सांस्कृतिक भवन कटकोना में 51, विकासखण्ड मनेन्द्रगढ के खोंगापानी के सांस्कृतिक भवन में 12, ग्राम पंचायत लाई के सामुदायिक भवन में 34, ग्राम कठौतिया में 14, विकासखण्ड खड़गवां के ग्राम पंचायत दुबछोला के ग्राम पंचायत भवन में 45, खड़गवां के सामुदायिक भवन में 22 एवं विकासखण्ड भरतपुर के ग्राम पंचायत देवगढ़ के सामुदायिक भवन में 21 लोगों को अस्थायी राहत शिविर बनाकर उन्हें सभी जरूरी सामग्री एवं सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही हैं। जिसमें नाश्ता, चाय, गर्म ताजा भोजन, पेयजल, निस्तारी हेतु जल, साबून, तेल, प्रसाधन, बिजली, पंखा, आश्रय, कपड़े, स्वास्थ्य आदि मूलभूत सुविधाएं शामिल हैं। इसके साथ ही शिविर में रह रहे लोगों को मेडिकल किट भी प्रदाय किया गया है तथा नियमित रूप से स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जा रहा है। राजस्व विभाग द्वारा शिविरों का संचालन किया जा रहा है तथा उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होने के लिए नियमित निरीक्षण कर संबंधितों को निर्देशित भी किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि इस संबंध में जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं समस्त कलेक्टर को पत्र जारी कर आवश्यक निर्देश दिये गये हैं।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.