Saturday, 14 March 2020

नक्सली दंपति ने राजनांदगांव में किया सरेंडर


राजनांदगांव । छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में नक्सली दंपति ने आत्मसमर्पण कर दिया है. पुलिस द्वारा नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे एंटी नक्सल अभियान के तहत मोहाल औंधी संयुक्त एरिया कमेटी सचिव गैंदसिंह कोवाची, महिला नक्सली एरिया कमेटी सदस्य और जोनल मेडिकल टीम सदस्य रमशिला ध्रुव ने पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव के समक्ष आत्मसमर्पण किया. पुलिस अधीक्षक बीएस ध्रुव ने पुलिस कंट्रोल रूम में पत्रकार वार्ता लेकर इस बात की जानकारी दी. पुलिस के मुताबिक सरेंडर करने वाले नक्सली गैंदसिंह कोवाची पर आठ लाख रुपये और रमशिला पर पांच लाख रुपये का इनाम रखा गया था.


पुलिस का दावा है कि दोनों ने नक्सली संगठन में रहते हुए शादी कर ली थी. 2006 में दोनों नक्सली संगठन में शामिल हुए थे. संगठन से मोह भंग होने और छत्तीसगढ़ सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर दोनों ने आत्मसमर्पण किया. आंधप्रदेश के नक्सलियों द्वारा छत्तसीगढ़ के नक्सलियों पर अत्याचार और भेदभाव करने की बात सरेंडर करनें वाले नक्सली गैंदसिंह कोवाची ने कही है.
एएसपी नक्सल ऑपरेशन जीएन बघेल का कहना है कि राजनांदगांव पुलिस द्वारा नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान में एक और बड़ी सफलता हाथ लगी है. नक्सली दंपति ने शनिवार को पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया है. उनका का कहना है कि छत्तीसगढ़ सरकार की पुनर्वास नीति और लगातार जंगल में पुलिस द्वारा सर्चिंग और नक्सलियों पर दबाव बनाया जा रहा है. इसके चलते अब नक्सली क्षेत्र से उखड़ने लगे हैं. नक्सली या तो राजनांदगांव की सीमा से भाग रहे है या आत्मसमर्पण कर रहे है.

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.