Sunday, 1 March 2020

पांच घंटे की नींद पांच मिनट में कैसे ले सकते हैं मोटिवेशनल स्पीकर


रायपुर। ब्रेन हार्डवेयर होता हैं और माइंड साफ्टवेयर दोनों को कंट्रोल करने के लिए हमेशा उसे अपडेट करना पड़ता है और वह होगा मोटिवेशनल से। पांच मिनट में 5 घंटे की नींद ले सकते हैं। आप अपने भीतर के सुपर पावर क्षमताओं से कैसे अवगत हो इसे लेकर हिडन सुपर पावर का लाइव डेमोस्ट्रेशन सिविल लाइन स्थित वृंदावन हॉल में शनिवार की शाम किया गया। जिसमें मोटिवेशनल स्पीकर जेसी हरीश मंत्री ने बड़ी ही तार्किक ढंग से उपस्थित लोगों को समझाया।

जाने माने मोटिवेशनल स्पीकर जेसी हरीश मंत्री (डायरेक्टर श्रीशिवम ग्रुप) द्वारा वृंदावन हॉल में अवेकन यूअर हिडन पावर ट्रिनिंग का आयोजन किया गया था। प्रोजेक्टर पर लाइव डेमोस्ट्रेशन के माध्यम से हर छोटी-बड़ी बिन्दुओं पर अपने विचार उन्होंने रखे। आप बहुत से कार्य कर सकते हैं जो एक जादू या करतब से कम नहीं है, हर किसी में अपने तरह की आंतरिक प्रतिभा छिपी होती है जिसे पहचानने की जरुरत है। आप जैसा-जैसा सोचते है, वैसा-वैसा होता है, यदि आपने मन में बिठा लिया कि गर्मी है तो गर्मी लगेगी, ठंडी है तो ठंडी लगेगी। पांच घंटे की नींद पांच मिनट में कैसे ले सकते है जानकर उन लोगों को आश्चर्य हुआ जो अक्सर यह शिकायत रखते है कि उन्हें पर्याप्त नींद नहीं आती। टूटे कांच पर चले और न पैर कटे न खून निकले यह कैसे संभव है? 6 एमएम की रॉड को अपने गले पर मोड?े से कोई नुकसान पहुंचे? आपकी बॉडी लोहे की तरह मजबूत हो सकती है और आप लोगों पर भारी पड़ सकते हैं।
ज्ञान ही हमको हमारा हक दिला सकता हैं जैसे कांशेस माइंड 10 प्रतिशत होता हैं वहीं अनकांशेस माइंड 90 प्रतिशत होता है। इसका अर्थ यह है कि जो बच्चे बादाम, काजू ज्यादा खाते हैं उनका अनकांशेस माइंड बहुत तेज से विकसित होता है। जो हम देखते हैं, सुनते हैं वह बच्चा वैसा नहीं होता क्योंकि वे जो करके दिखाते हैं उससे पता चलता हैं कि वह कितना माइंडेड हैं। मैंने खुद यह अनुभव किया है, जब मैं 5 साल तक प्री-मेडिकल का परीक्षा देकर 6वें साल में पास हुआ। जून 2006 में 90 दिनों तक बाथरूम में जाकर रोजाना रोया करता था और एक दिन पिताजी ने मुझे एक पुस्तक लाकर दिया है वहां से मेरी किस्मत बदल गई और आज मैं इस मुकाम तक पहुंच पाया हूं।
इस मौके पर उपस्थित जेसी अध्यक्ष निशित गोहिल ने बताया कि पांच प्रमुख क्षेत्रों में जेसीआई काम करता है उनमें इंडिविजुअल अपॉर्चुनिटी, कम्युनिटी अपॉर्चुनिटी, बिजनेस अपॉर्चुनिटी, मैनेजमेंट अपॉर्चुनिटी तथा इंटरनेशनल अपॉर्चुनिटी शामिल है। इस अवसर पर संस्थापक जेसीआई सिनेटर राजेश अग्रवाल, चित्रांक चोपड़ा, मुकेश केडिया, अध्यक्ष जेसी निशित गोहिल, सचिव श्रीकांत पारख, कार्यक्रम निदेशक जेसी रोहिम जैन, जेसी सुगीत वर्मा व लगभग 200 सदस्य इस ट्रेनिंग में शामिल हुए।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.