Wednesday, 26 February 2020

छत्तीसगढ़ राष्ट्रीय स्तर पर स्टार्टअप को आसान बनाने के लिए सम्मानित



 रायपुर! स्टार्टअप को बढ़ावा देने, कार्य की सुलभता, सामाजिक-आर्थिक विकास और रोजगार के अवसर बढ़ाने की दिशा में काम करने पर छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया गया है। लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्योग मंत्रालय के द्वारा राष्ट्रीय एमएसएमई पुरस्कार समारोह में छत्तीसगढ़ को ओवरऑल उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया है।
समारोह नई दिल्ली के प्रवासी भारतीय केंद्र में आयोजित किया गया, जहां प्रदेश के वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने केंद्रीय उद्योग मंत्री नितिन गडकरी के हाथों पुरस्कार ग्रहण किया। कार्यक्रम में मंत्री कवासी लखमा विशेष अतिथि के रूप में शामिल हुए, जहां उन्होंने कई विजेताओं को पुरस्कार भी प्रदान किया।
छत्तीसगढ़ राज्य के आर्थिक विकास में लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्यम की महत्वपूर्ण सहभागिता है। राज्य में लगभग 8.48 लाख लघु, सूक्ष्म और मध्यम इकाइयां स्थापित हैं, जिनमें 17 लाख लोगों को रोजगार प्रदान किया जा रहा है। इनमें 71 हजार एमएसएमई उद्योग की स्थापना में महिला उद्यमियों की भागीदारी है। इज ऑफ डूइंग बिजनेस में भी राज्य द्वारा औद्योगिक विकास के लिए पारदर्शी प्रणाली विकसित की गयी है। राज्य के युवाओं द्वारा अधिक से अधिक उद्यम स्थापित हो सके तथा रोजगार का सृजन हो सके इसके लिए मुख्यमंत्री युवा रोजगार योजना का विस्तार किया जा रहा है। वहीं, औद्योगिक विवादों के त्वरित निराकरण हेतु वाणिज्यिक न्यायालय की स्थापना की गयी है। साथ ही राज्य में सूक्ष्म, लघु औद्योगिक फेसिलिटेशन काउंसिल भी सुचारु रूप से कार्यरत है, जिसमें लंबित भुगतानों को विधिपूर्वक निराकरण किया जा रहा है। राज्य द्वारा अपने औद्योगिक इकाइयों की विपणन व्यवस्था को सुदृढ़ और मजबूत करने हेतु ई मानक पोर्टल विकसित किया गया है।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.