Friday, 17 January 2020

दो दिवसीय गुरु घासीदास लोककला महोत्सव का शुभारंभ



राज्य स्तरीय गुरु घासीदास लोक कला महोत्सव में पंथी नृत्य स्पर्धा में दुर्ग जिले की न्यू सत्य निर्मल धारा धमधा की टीम प्रथम स्थान पर रही। द्वितीय स्थान पर महासमुंद जिले के सत्य अंजोर बागबाहरा की टीम ने प्राप्त किया और तृतीय स्थान पर सत संग्राम बिलासपुर की टीम रही। अनुसूचित जाति एवं जनजाति विकास मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने सभी विजेता टीमों को सम्मानित किया। उन्होंने धमधा की टीम को एक लाख रुपये, बागबाहरा की टीम को 75 हजार रुपये, बिलासपुर की टीम को 50 हजार रुपये की राशि और तीनों विजेता दलों को प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया। प्रतियोगिता का आयोजन दुर्ग जिले के भिलाई-3 स्थित मंगल भवन में किया गया। डॉ. टेकाम ने इस दो दिवसीय महोत्सव का शुभारंभ किया था।
मंत्री डॉ. टेकाम ने इस अवसर पर कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार प्रदेश के सांस्कृतिक विकास को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिक परंपराओं को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न आयोजन किए गए हैं। इसी कड़ी में राज्य स्तरीय गुरु घासीदास लोक कला महोत्सव का आयोजन भी शामिल है। दो दिनों तक चले इस कार्यक्रम में राज्य भर के 23 दलों ने हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि मांदर की थाप पर सुंदर नृत्य प्रस्तुत किए गए। इसमें बस्तर से लेकर सरगुजिया संस्कृति तक के रंग देखने को मिले। पंथी के सुंदर नृत्य ने सभी को उत्साहित किया। आयोजन से सांस्कृतिक प्रतिभाओं को तो बढ़ावा मिलने के साथ ही सभी के भीतर बसे छत्तीसगढ़ी संस्कृति के उत्साह की झलक भी देखने को मिली।

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.