Friday, 31 January 2020

रविवि का परीक्षा विभाग हुआ कंप्यूटरीकृत, छात्रों को राहत



रायपुर ! पंडित रविशंकर विवि को यद्यपि प्रदेश के प्रथम विवि का दर्जा प्राप्त है, लेकिन डिजिटिलाइजेशन के क्षेत्र में वर्ष 2019-2020से प्रथम चरण के तहत परीक्षा विभाग को पूर्णतया कम्प्यूटरीकृत करने जा रहा है। इसकी शुरूआत छात्रों के परीक्षा फार्म भरने से कर दिया गया है।
विवि प्रशासन से प्राप्त जानकारी के अनुसार परीक्षा से संबंधित आवेदन पत्रों की जांच,प्रवेश पत्र की प्रक्रिया,मार्कशीट आदि आनलाईन छात्रों को ज्ञात हो सकता है। यदि किसी छात्र के आवेदन पत्र में त्रुटि होगी तो स्वंय छात्र उसे आनलाईन सुधार कर सकते हैं। आने वाले समय में माइग्रेशन डिग्री आदि आवश्यक दस्तावेज छात्रों को उपलब्ध कराया जा सकता है। यद्यपि दस्तावेजों को आनलाईन करने की प्रक्रिया जारी है। लेकिन कुछ आवश्यक दस्तावेजों को प्राप्त करने के लिए ही छात्र छात्राओं को विवि आने की जरूरत होगी।
वर्तमान में पंडित रविवि शुक्ल विवि के अंतर्गत 56 शासकीय महाविद्यालय एवं लगभग 87 निजी महाविद्यालय संचालित है। वर्ष 2019-2020 में विश्वविद्यालयीन परीक्षा में विभिन्न संकायों के लगभग 1 लाख 44 हजार नियमित व लगभग 80 हजार छात्र छात्राएं शामिल होंगे।
विश्वविद्यालय प्रशासन का मानना है कि डिजिटिलाइजेशन के प्रथम चरण में परीक्षा संचालित करने जैसे महत्वपूर्ण कार्य को आनलाईन किया गया है,फिर भी तकनीकी त्रुटि की गुंजाइश नहीं के बराबर है। दूसरे चरण में विवि के सभी विभागों में इसी प्रकिया के तहत कार्य किए जायेंगे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.