Sunday, 29 December 2019

पशुपति नाथ के मंदिर की 250 करोड़ रुपए की जमीन का कब्जा कमलनाथ सरकार ने मुक्त कराया



भोपाल ! प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष एवं कालापीपल के विधायक कुणाल चौधरी ने आरोप लगाया है कि पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय माफिया मोहम्मद शफी के साथ मिलकर प्रसिद्ध पशुपति नाथ के मंदिर की 250 करोड़ रुपए की जमीन पर कब्जा करवा दिया था। जिसे कमलनाथ सरकार ने मुक्त कराया है।
चौधरी ने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पत्रकार वार्ता में कहा कि कमलनाथ सरकार में चल रहे माफियाओं के खिलाफ अभियान में 2 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा की कीमत की सरकारी जमीन अवैध कब्जे से मुक्त करवाई गई है। भाजपा सरकार में माफियाओं पर सरकार मेहरबान थी। इसके चलते माफिया ने मंदसौर के पशुपतिनाथ के मंदिर की भूमि तक पर कब्जा कर लिया था।
चौधरी ने कहा कि मंदसौर में ही माफिया सुधाकर मराठा और चुन्नु लाल के अवैध निर्माणों को भी प्रशासन में तोड़ा है।  कुणाल चौधरी ने कहा कि माफियाओं के खिलाफ प्रदेश भर में चल रहे अभियान का जहां जनता साथ दे रही है। वहीं भाजपा के नेता इसका विरोध कर रहे हैं। रेत माफियाओं पर भी कमलनाथ सरकार ने शिकंजा कसते हुए कार्यवाही की है। भाजपा नेताओं के माफियाओं से संबंध रहे हैं, इसलिए वे जनहित की इस कार्यवाही के विरोध में बयान दे रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.