Saturday, 7 December 2019

NHRC कहा- हैदराबाद एनकाउंटर के हर पहलू की होगी जांच



हैदराबाद  !  हैदराबाद में डॉक्टर के साथ गैंगरेप और हत्या के चारों आरोपी को पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए थे। इस मामले को लेकर अब राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग भी सक्रिय हो गया है। आयोग की टीम ने हैदराबाद पहुंचकर जांच की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि एनएचआरसी की टीम ने महबूबनगर के सरकारी अस्पताल का भी दौरा किया, जहां चारों आरोपियों के शव पोस्टमॉर्टम के बाद रखे गए हैं।
एनएचआरसी ने कथित मुठभेड़ में चार आरोपियों के मारे जाने पर संज्ञान लेते हुए शुक्रवार को जांच के आदेश दिए थे। देश में मानवाधिकार की सर्वोच्च संस्था ने कहा था कि मुठभेड़ चिंता का विषय है और इसकी सावधानीपूर्वक जांच किए जाने की जरूरत है। एनएचआरसी ने कहा, 'आयोग की राय है कि इस मामले की जांच बेहद सावधानीपूर्वक किए जाने की जरूरत है। इसी के अनुरूप, उसने अपने महानिदेशक (अन्वेषण) को तत्काल एक टीम मामले की जांच के लिए मौके पर भेजने को कहा है।'
घटनास्थल पर भी जा सकती है एनएचआरसी की टीम
एनएचआरसी की यह टीम चट्टनपल्ली गांव में मुठभेड़ स्थल और शहर के बाहरी इलाके में स्थित टोल प्लाजा का दौरा कर सकती है, जहां 27 नवंबर की रात महिला के साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म हुआ था। चारों आरोपियों का पोस्टमॉर्टम महबूबनगर जिले के सरकारी जिला अस्पताल में हुआ और इसकी विडियॉग्रफी भी कराई गई है।
9 दिसंबर तक सुरक्षित रहेंगे आरोपियों के शव
तेलंगाना हाई कोर्ट ने शुक्रवार को प्रदेश सरकार को निर्देश दिया था कि वह चारों आरोपियों के शव 9 दिसंबर को रात 9 बजे तक सुरक्षित रखे। हैदराबाद के निकट सुबह पुलिस के साथ मुठभेड़ में चारों आरोपी मार गिराए गए थे। इन चारों को 25 वर्षीय महिला से दुष्कर्म और हत्या के आरोप में 29 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.