Friday, 4 October 2019

आतंकवाद और बढ़ता अगर बालाकोट एयर स्ट्राइक न होती तो: वायुसेना प्रमुख



वायुसेना प्रमुख राकेश कुमार भदौरिया ने कहा है कि अगर बालाकोट एयर स्ट्राइक नहीं होती तो आतंकी गतिविधियों का स्तर कुछ और होता। भदौरिया ने कहा कि यह कहना गलत है कि बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भी वहां आतंकी गतिविधियां जारी हैं। उन्होंने यह भी कहा कि हम शुरू में हमला नहीं करते और न ही हमारी ऐसी कोई योजना है। लेकिन अगर कोई हमें उकसाएगा तो सरकार जैसा तय करेगी हम उसके लिए पूरी तरह तैयार हैं।
भदौरिया का इशारा बालाकोट स्ट्राइक दोहराने की ओर था। अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए भदौरिया ने कहा कि पीओके के लिए कोई अलग योजना नहीं बनाई गई है। जरूरत पड़ने पर सरकार जैसा कहेगी उसके लिए वायुसेना तैयार है। वायुसेना प्रमुख ने कहा कि जो भी जरूरत होगी और जहां भी जरूरत होगी हम उसके लिए तैयार हैं।
वायुसेना प्रमुख ने कहा, ‘वायुसेना ने सुरक्षित रेडियो कम्युनिकेशन के लिए कदम उठाएं है।जब विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान पाकिस्तान के एफ-16 फाइटर जेट को खदेड़ रहे थे तब उनका रेडियो कम्युनिकेशन जाम हो गया था। जब अभिनंदन सीमा पार करने वाले थे तो कमांड रूम से उन्हें लगातार वापस आने का संदेश भेजा जा रहा था लेकिन वह उन तक पहुंचा नहीं। पाकिस्तान ने उनका रेडियो नेटवर्क जाम कर दिया था। अब वायुसेना ने सुरक्षित रेडियो कम्युनिकेशन के लिए कदम उठाए हैं।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.