Thursday, 17 October 2019

औद्योगिक क्षेत्र की 80 प्रतिशत समस्या और सुझाव पर अमल की कार्रवाई शुरू



मुख्यमंत्री ने कहा है कि पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र की जो भी समस्याएँ और सुझाव हैं उनमें से 80 प्रतिशत बिन्दुओं पर सरकार ने पूर्व में ही समाधान की कार्रवाई शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि उद्योगों के लिए अनुकूल वातावरण बनें और उन्हें अपने काम में कोई परेशानी न हो, सरकार इसके लिए सजग है। नाथ इन्दौर में 'मैग्नीफिसेंट मध्यप्रदेश'' आयोजन की पूर्व संध्या पर स्थानीय ब्रिलियेंट कन्वेंशन सेंटर में पीथमपुर औद्योगिक संगठन के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा कर रहे थे।
मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि पीथमपुर औद्योगिक संगठन ने जो मांग पत्र दिया है, उस पर सरकार ने पहले से ही समाधान की कार्रवाई शुरू कर दी है। नाथ ने कहा कि जो भी बिन्दु और सुझाव उनके ध्यान में लाये जाएंगे सरकार उन पर प्राथमिकता के साथ काम करेगी और धीरे-धीरे उन सभी दिए गए सुझावों को शामिल कर समस्याओं का निराकरण किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम प्रदेश के विकास और यहाँ के रहवासियों की खुशहाली और नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए वातावरण बनाना चाहते हैं। इसमें नए निवेशकों और पूर्व से स्थापित उद्योगों की हर शिकायत और सुझावों को प्राथमिकता पर लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने पीथमपुर औद्योगिक संगठन से अपेक्षा की कि वे समय-समय पर अपने शिकायतों और सुझावों से अवगत करवाते रहें।
पीथमपुर औद्योगिक संगठन के अध्यक्ष डॉ. गौतम कोठारी ने मुख्यमंत्री को बाईस सूत्रीय ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि उनके आठ माह के अल्प कार्यकाल में कई ऐसे निर्णय हुए हैं जिससे उद्योग और निवेशक प्रोत्साहित हुए हैं। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री कमल नाथ को बधाई भी दी। पीथमपुर औद्योगिक संगठन के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया कि पहली बार उन्हें गंभीरता से सुना गया और उनके ज्ञापन में से कई बिन्दुओं पर सरकार ने समाधान की कार्रवाई भी शुरू कर दी।

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.