Wednesday, 21 August 2019

छात्र-छात्राओं के साथ किसी भी प्रकार का नहीं होगा अन्याय: सुश्री उइके


राज्यपाल अनुसुईया उइके से आज राजभवन में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार लोग भेंट-मुलाकात कर रहे थे, तभी बगैर पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्वास्थ्य विज्ञान एवं आयुष विश्वविद्यालय रायपुर के फार्मेसी संकाय के छात्र-छात्राओं का प्रतिनिधिमण्डल आज अचानक राजभवन के दरवाजे पर पहुंचे और राज्यपाल से मिलने की इच्छा जाहिर की। राज्यपाल सुश्री उइके को इस संबंध में जानकारी मिलने पर उन्होंने तत्काल छात्र-छात्राओं के प्रतिनिधिमण्डल को अंदर बुलवाया और उनकी समस्याओं को सुना। राज्यपाल ने इस संबंध में त्वरित कार्यवाही करते हुए आयुष एवं स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपतियों को राजभवन बुलाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन छात्र-छात्राओं के साथ किसी भी प्रकार का अन्याय नहीं होने दिया जाएगा और उनकी समस्याओं का हरसंभव समाधान किया जाएगा।
प्रतिनिधिमण्डल ने बताया कि उन्होंने वर्ष 2017 से शासकीय फार्मेसी कॉलेज में प्रवेश लिया है, लेकिन अभी तक फार्मेसी विभाग का भवन और लैब नहीं बन पाया है। उन्हें सिर्फ दो संविदा शिक्षक अध्यापन के लिए दिए गए हैं, नियमित रूप से कक्षाएं भी नहीं लग रही हैं, न ही समय पर परीक्षाएं हो पा रही है। इसके कारण इस संकाय के विद्यार्थी अभी तृतीय सेमेस्टर में ही हैं, जबकि उन्हें अब तक पांचवे सेमेस्टर में होना था। उन्होंने बताया कि पर्याप्त सुविधाओं के अभाव में इस विषय को ए.आई.सी.टी. से अनुमति नहीं मिल पाई है, जिसके कारण भविष्य में उन्हें पंजीयन में भी कठिनाई होगी। उन्होंने राज्यपाल से आयुष विश्वविद्यालय के फार्मेसी संकाय को स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय में स्थानांतरित करने का आग्रह किया।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.