छत्तीसगढ़ राज्य के प्रगतीशील मत्स्य कृषक श्री प्रशांत सांतरा और श्री सुदीप दास को राष्ट्रीय मात्स्यिकी विकास बोर्ड हैदराबाद के द्वारा राष्ट्रीय मछुआ दिवस के अवसर पर 10 जुलाई 2019 को पुरस्कृत किया जाएगा।
    
    दुर्ग जिले के ग्राम अर्जुन्दा के रहने वाले श्री प्रशांत सांतरा को अंर्तस्थलीय क्षेत्र में हैचरी निर्माण और संचालन में उल्लेखनीय कार्य करने के लिए बेस्ट हैचरी पुरस्कार से नवाजा जाएगा। श्री प्रशांत सांतरा द्वारा मत्स्य बीज उत्पादन के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया जा रहा है। उनके द्वारा उत्पादित मत्स्य बीज प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों के अतिरिक्त मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, उड़ीसा के मत्स्य कृषक भी क्रय कर तालाबों में संचय कर मत्स्य पालन कर रहे हैं।
     इसी प्रकार गरियाबंद जिले के ग्राम पथर्री के श्री सुदीप दास को आर. ए. एस. तकनीकी के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने के लिए बेस्ट इनोवेटिव फिश फार्मर श्रेणी में पुरस्कृत किया जाएगा। श्री सुदीप दास के द्वारा आर. ए. एस. तकनीक को देश में प्रथम बार मीठे जल में तैयार कर उत्पादन किया है। इस तकनीक का लाभ प्रदेश  एवं  देश के मत्स्य कृषक प्रत्यक्ष अवलोकन कर प्राप्त कर रहे हैं। आर. ए. एस. तकनीक के अंतर्गत कम से कम क्षेत्र में टंकियों का निर्माण कर उपयोग किए जा रहे जल को पुनः साफ कर उपयोग में लाया जा रहा है। जिससे कम से कम क्षेत्र में कम से कम जल का उपयोग कर अधिक से अधिक मत्स्य उत्पादन प्राप्त किया जाता है।
    उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय मात्स्यिकी विकास बोर्ड, हैदराबाद के द्वारा मत्स्य पालन के क्षेत्र में देश में मीठा जल एवं समुद्री जल अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाले मत्स्य कृषकों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले विभिन्न श्रेणी के मत्स्य कृषकों को राष्ट्रीय मछुआ दिवस के अवसर पर 10 जुलाई 2019 को पुरस्कृत किया जाएगा। राष्ट्रीय मछुआ दिवस का आयोजन प्रतिवर्ष 10 जुलाई को किया जाता है।