Friday, 26 July 2019

निप्पॉन इलेक्ट्रिक द्वारा छत्तीसगढ़ की जरूरतों और आवश्यकताओं के अनुसार कार्य करने के लिए रूचि व्यक्त


मुख्यमंत्री बघेल से आज मंत्रालय में जापान के निप्पॉन इलेक्ट्रॉनिक कंपनी (एनईसी) कॉर्पोरेशन के उप-प्रबंध निदेशक श्री मशरू हसेगावा के नेतृत्व में सात सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात की।
 
    इस अवसर पर राज्य शासन के वाणिज्य एवं उद्योग विभाग प्रमुख सचिव श्री मनोज पिंगुजा, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री गौरव द्विवेदी, अपर परिवहन आयुक्त श्री एस.आर.पी. कल्लूरी, प्रबंध संचालक, सीएसआईडीसी श्री पी. अरूण प्रसाद तथा वाणिज्य एवं उद्योग विभाग के विशेष सचिव श्री व्ही.के. छबलानी उपस्थित थे। इसी तरह प्रतिनिधिमंडल में श्री तोरू सुयामा, वरिष्ठ प्रबंधक, श्री प्रदीप कुशवाहा, प्रमुख पब्लिक सेफ्टी और श्री जनदीप सिंह, वरिष्ठ प्रबंधक एवं सदस्य शामिल थे।
 
    बैठक में एनईसी द्वारा एक पॉवर प्वाइंट प्रदर्शन किया गया। श्री मशरू हसेगावा ने बताया कि कंपनी के पास वैश्विक स्तर पर 64 हजार से अधिक आईटी, आईटीईसी पेटेंट हैं और इसे फॉर्चयून 500 कंपनी के रूप में मान्यता दी गई है। यह आईसीटी इनोवेशन प्रदाता के रूप में जाना जाता है। उन्होंने बताया कि कंपनी भारत में आधार सहित यातायात सुरक्षा, बीआरटीएस बस परिवहन व्यवस्था जैसे विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर रही है। सामाजिक दृष्टिकोण से भी कंपनी द्वारा व्यापक रूप से कार्य किया जाता है। उन्होंने बताया कि वे छत्तीसगढ़ में यहां की विशिष्ट जरूरतों और आवश्यकताओं के अनुसार कार्य करना चाहते हैं। उन्होंने इसके लिए स्मार्ट सिटी, यातायात परिवहन एवं सड़क सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में कार्य करने में अपनी रूचि दिखाई। बैठक में यह भी जानकारी दी गई कि छत्तीसगढ़ में 2017 में करीब साढ़े चार हजार और वर्ष 2018 में करीब पांच हजार लोगों की सड़क दुर्घटना में मृत्यु हुई है।    
    मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में शोध एवं अनुसंधान प्रयोगशाला आधारित आईटी समाधान स्थापित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अगर कॉर्पोरेशन इस दिशा में अपना आधार स्थापित करने की पहल करता है, तो उसका स्वागत है।

 

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.