Monday, 1 July 2019

मिशन के तहत अधोसंरचना विकास और आजीविका संवर्धन के हो रहे हैं अनेक काम



छत्तीसगढ़ में रूर्बन मिशन के अंतर्गत सभी क्लस्टर्स में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन का काम जल्द शुरू होगा। क्लस्टर्स को सुव्यवस्थित रूप देने मास्टर प्लान (विकास योजना) तैयार कर क्लस्टर्स क्षेत्रों का निवेश क्षेत्र के रूप में गठन किया जाएगा। रूर्बन मिशन के राज्य परियोजना संचालक और राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के संचालक श्री अभिजीत सिंह ने रूर्बन मिशन की समीक्षा के दौरान इन कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्थानीय नगर एवं ग्राम निवेश विभाग के सहयोग से संबंधित क्षेत्रों का मास्टर प्लान जल्द तैयार करने कहा।
श्री सिंह ने अंबिकापुर में बैठक लेकर छह जिलों कोरबा, रायगढ़, कोरिया, बलरामपुर-रामानुजगंज, जशपुर और सरगुजा में रूर्बन मिशन के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने सरगुजा जिले में मिशन के तहत हो रहे कार्यों का निरीक्षण भी किया। बैठक में श्री सिंह ने आगामी कार्यों के लिए तैयार डी.पी.आर. (Detailed Project Report) की जिलेवार समीक्षा की। उन्होंने मिशन के वेब पोर्टल रूर्बन सॉफ्टपर कार्यों की जानकारी अपलोड करने के पूर्व स्थल निरीक्षण करने कहा जिससे कि परियोजना के क्रियान्वयन के दौरान जमीन संबंधी कोई समस्या न आए।
राज्य स्तरीय इस समीक्षा बैठक में सभी छह जिलों के जिला पंचायत, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, रूर्बन विशेषज्ञ और तकनीकी सलाहकार सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने हिस्सा लिया। राज्य परियोजना संचालक ने मिशन के तहत हो रहे अच्छे कार्यों के लिए सभी अधिकारियों और हितग्राहियों को शाबाशी दी। उल्लेखनीय है कि हाल ही में 24 जून को नई दिल्ली में हुई राष्ट्रीय रूर्बन मिशन की कार्यशाला में छत्तीसगढ़ के कार्यों को काफी सराहना मिली है।
राज्य परियोजना प्रबंधक श्री राजीव त्रिपाठी ने समीक्षा बैठक में क्षेत्र सीमांकन की अधिसूचना जारी करने और मास्टर प्लान बनाने की प्रक्रिया की जानकारी दी। बैठक में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए हर घर से स्वच्छता सेवा शुल्क लेने का सुझाव दिया गया। रूर्बन मिशन के राज्य परियोजना संचालक श्री अभिजीत सिंह ने सरगुजा जिले के लुंड्रा विकासखंड के रूर्बन क्लस्टर रघुनाथपुर में संचालित विभिन्न कार्यों का निरीक्षण किया और अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने सुमेरपुर बांध, रघुनाथपुर पंचायत में निर्माणाधीन बिहान हाट बाजार और कुक्कुट पालन, बटवाही पंचायत में स्वसहायता समूह द्वारा तैयार किए जा रहे वर्मी कंपोस्ट, मशरूम उत्पादन, सीसी रोड और नाली निर्माण कार्य का अवलोकन किया। वे इस दौरान ग्रामीणों से भी मिले।
श्री सिंह ने बटवाही में संचालित आजीविका संसाधन केन्द्र और सोलर पॉवर प्लांट का भी निरीक्षण किया। उन्होंने नल जल योजना के माध्यम से हर घर में शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने का काम शुरू करने के निर्देश लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन अभियंता को दिए। भ्रमण के दौरान जनपद पंचायत, ग्रामीण आजीविका मिशन, रूर्बन मिशन, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा तथा कृषि विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.