Wednesday, 6 February 2019

रायपुर : राज्य सरकार के निर्णय के परिपालन में छोटे भू-खंडों की रजिस्ट्री भी प्रारंभ : भूपेश बघेल


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य सरकार जन आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए वचनबद्ध है। इस दिशा में राज्य सरकार ने तेजी से काम करना प्रारंभ कर दिया है। राज्य सरकार के गठन के बाद किसानों की कर्ज माफी और 2500 रूपए प्रति क्विंटल पर धान खरीदी की गई है। राज्य सरकार के निर्णय के परिपालन में छोटे भू-खंडों की रजिस्ट्री भी प्रारंभ हो गई है। मुख्यमंत्री आज सरगुजा जिले के मैनपाट में आयोजित मैनपाट महोत्सव के समापन समारोह को मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्बोधित कर रहे थे। पंचायत एवं ग्रामीण विकास और लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने समारोह की अध्यक्षता की। महोत्सव में लोक संस्कृति पर आधारित अनेक आकर्षक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी का शुभारंभ किया। उन्होंने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में नवविवाहित 150 जोड़ों को उनके सुखद दाम्पत्य जीवन के लिए आशीर्वाद प्रदान किया। कार्यक्रम में 847 वनवासियों को वन अधिकार पत्र भी प्रदान किए गए। बघेल नेे नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी जैसी छत्तीसगढ़ की विशेषता के संरक्षण की आवश्यकता बताते हुए राज्य मंे नदी-नाले के संरक्षण और जीर्णोंद्धार, गौ, भैंसवंशी पशुओं की नस्ल सुधार, पशु अपशिष्ट से कम्पोष्ट खाद निर्माण और घर के पीछे की जगह में साग-सब्जी व फल उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए सभी से सक्रिय सहयोग का आव्हान किया। मुख्यमंत्री और अतिथियों ने सामुदायिक पुलिसिंग के तहत आयोजित क्रिकेट प्रतियोगिता के विजेता खिलाडि़यों से मुलाकात की। उन्होंने सा रे गा मा पा के लिटिल चैम्प प्रियांशु मिश्रा एवं लव मी इण्डिया फाईनलिस्ट स्तुति जायसवाल को सम्मानित किया। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि मैनपाट महोत्सव संस्कृति और कला के उत्थान में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रहा है। यहां के पर्यटन स्थलों को सर्व सुविधायुक्त बनाकर पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र बनाया जाएगा। स्थानीय विधायक अमरजीत भगत ने अपने उदबोधन में क्षेत्र में सड़क, पुल-पुलियों, बांध, व्यपवर्तन सहित अन्य विकास कार्यो की आवश्यकताओं की ओर अतिथियों का ध्यान आकर्षित किया। उन्होंने मैनपाट स्थित टाइगर प्वाइंट, मेहता प्वाइंट, दलदली, उल्टापानी सहित अन्य सुरम्य प्राकृतिक स्थलों के समुचित विकास का आग्रह किया। कलेक्टर सरगुजा डॉ. सारांश मित्तर ने अपने प्रतिवेदन में बताया कि शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, गुरवा एवं बाड़ी के लिए ग्राम पंचायत सरगवां में मॉडल के रूप में 5 एकड़ जमीन में गोठान एवं चारागाह तैयार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिले की 399 ग्राम पंचायतों में से 362 ग्राम पंचायतों में इस योजना के तहत जमीन चिन्हांकित की गई। इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, सामरी विधायक श्री चिन्तामणी महाराज, लुण्ड्रा विधायक डॉ. प्रीतम राम, भटगांव विधायक श्री पारसनाथ राजवाड़े, सोनहत विधायक गुलाब कमरो, महापौर अम्बिकापुर डॉ. अजय तिर्की, जनपद पंचायत मैनपाट अध्यक्ष श्रीमती पति बाई, अनेक जनप्रतिनिधि, संभागायुक्त श्री ए.के. टोप्पो, पुलिस महानिरीक्षक श्री हिमांशु गुप्ता, मुख्य वन संरक्षक के.के. बिसेन सहित वरिष्ठ अधिकारी तथा बड़ी संख्या में पर्यटक उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.