Thursday, 21 February 2019

मुख्यमंत्री कमलनाथ छिंदवाड़ा से विधानसभा और कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ लड़ेंगे लोकसभा चुनाव


मध्यप्रदेश में लंबे समय से ये अटकलें लगाई जा रही थीं कि मुख्यमंत्री कमलनाथ किस विधानसभा सीट से चुनाव लड़कर विधायक बन विधानसभा पहुंचेंगे। लंबे समय से जारी कयासों का दौर अब खत्म हो गया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के लिए कांग्रेस विधायक दीपक सक्सेना ने अपनी सीट खाली कर दी है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबी नेता के रूप में पहचाने जाने वाले दीपक सक्सेना ने खुद अपने विधायक पद से इस्तीफे की जानकारी दी है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ एक फोटो शेयर करते हुए दीपक सक्सेना ने लिखा कि छिंदवाड़ा की जनता चाहती है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ जी यहां से चुनाव लड़ें, यही इच्छा मेरी भी है, इसलिए मैं दीपक सक्सेना अपने आदर्श माननीय कमलनाथ जी के लिए अपनी विधानसभा क्रमांक 126 छिंदवाड़ा से इस्तीफा देता हूं, मैं अपने आपको सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं कि मुझे कमलनाथ जी के लिए अपनी सीट छोड़ने का अवसर प्राप्त हुआ। मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार के मुखिया के तौर पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 17 दिसंबर को शपथ ली थी और संसदीय नियमों के मुताबिक उन्हें छह महीने में विधानसभा का सदस्य बनना जरूरी है। दीपक सक्सेना के इस्तीफे के बाद साफ हो गया है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ मध्यप्रदेश विधानसभा में छिंदवाड़ा विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व करेंगे। नकुलनाथ छिंदवाड़ा से लड़ सकते हैं लोकसभा चुनाव : एक ओर तो छिंदवाड़ा से मुख्यमंत्री कमलनाथ विधानसभा चुनाव लड़ेंगे तो दूसरी ओर छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से उनके बेटे नकुलनाथ चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं। अगर नकुलनाथ छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ते हैं तो संभवत: ये देश के इतिहास में पहला मौका होगा कि जब एक ही नाम की सीट से पिता-पुत्र दो अलग-अलग सदनों में बैठेंगे। छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से वर्तमान में मुख्यमंत्री कमलनाथ सांसद हैं। वह नौ बार इस सीट से सांसद चुने गए हैं। पिछले दिनों जब मुख्यमंत्री कमलनाथ छिंदवाड़ा के दौरे पर थे तब कई कार्यक्रमों में बेटे नकुलनाथ पिता कमलनाथ के साथ नजर आए थे। इसी दौरान एक कार्यक्रम में कांग्रेस विधायक दीपक सक्सेना ने नकुलनाथ को सांसद कहकर संबोधित किया था।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.