Monday, 18 February 2019

ईमानदारी से पढ़ाई परीक्षा में सफलता की कुंजी - कमल नाथ

प्यारे बच्चों... परीक्षाओं का दौर प्रारंभ हो चुका है और कुछ प्रारंभ होने वाली हैं। मैं उम्मीद करता हूँ कि आपने वर्ष भर पूरे मन से तैयारी की है, जिससे आपको निश्चित ही सफलता मिलेगी। परीक्षा में शामिल होते समय आपको मन और आत्म-विश्वास मजबूत और शांत रखना है। आप धैर्य के साथ हर सवाल का जवाब दें और को‍शिश करें कि तय समय में पूछे गए सभी सवालों का जवाब दें। यदि किसी प्रश्न का उत्तर नहीं सूझ रहा हो, तो परेशान न हों। जो बचे सवाल है, उनका उत्तर जरूर और मुकम्मल दें। तय मानें कि आप निश्चित ही सफल होंगे। सफलता के लिए मेहनत, लगन और एकाग्रता जरूरी है। निराशा और आलस्य, सफलता के दुश्मन हैं और इन्हें पास न फटकने दें। यदि आप अपने प्रति ईमानदार हैं तो आपको हताशा का सामना करना ही नहीं पड़ेगा। आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता। बच्चों... आपको मालूम है कि परीक्षा यानि उत्तम और सर्वोत्तम के लिए संघर्ष। किसने ज्यदा मेहनत की, इसका फैसला इससे होता है। यदि हम सर्वोत्तम नहीं हो पा रहे हैं, तो ये संकेत है इस बात का कि हमें आगे और मेहनत करनी है। हममें कोई थोड़ी कमी है, जो हमें दूर करना है। आप परिवार, समाज और देश का भविष्य हैं। आपसे बहुत उम्मीदें हैं और आप पर आने वाले कल की गहन-गंभीर जिम्मेदारी है। मैं कामना करता हूँ कि आप सभी सफल रहेंगे और अपना नाम रोशन करेंगे। फिर भी यदि कोई कमी रह जाए तो निराश न हों, हौसला और धैर्य बनाए रखें इस उम्मीद से कि फिर मेहनत करेंगे और अव्वल आएंगे। यदि आप दुनिया के महान और सफलतम लोगों की जीवनी पढ़ेंगे तो पाएंगे कि वे बार-बार असफल होने पर भी हिम्मत नहीं हारे और आखिरकार सफलतम बनें। असफलता से ही सफलता के रास्ते गुजरते हैं, ये जानकर ही परीक्षा में शामिल हों और कामयाब हों। मेरी शुभकामनाएँ आपके साथ हैं।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.