Monday, 4 February 2019

परिवहन मंत्री द्वारा बस ऑपरेटर्स से चर्चा और विभागीय समीक्षा

राज्य में शुरू होगी रात्रिकालीन बस सेवा : परिवहन मंत्री राजपूत
ड्रायवर्स-कन्डॅक्टर्स के लिए होगी यूनिफार्म : आरटीओ कार्यालय के भवन बनेंगे, परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने कहा है कि यात्री बस चालकों और परिचालकों के लिये यूनिफार्म को आवश्यक घोषित किया जायेगा। क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों के अपने भवन निर्मित करने, रात्रिकालीन बस सेवा प्रारंभ करने और ग्रामीण परिवहन को बढ़ावा देने के लिये सभी आवश्यक व्यवस्थाएँ की जाएंगी। साथ ही प्रदेश में निजी बस ऑपरेटर्स और सूत्र सेवा के मध्य समन्वय स्थापित कर यात्रियों के हित में समाधान निकाला जायेगा। परिवहन मंत्री राजपूत ने कहा कि राज्य में नया एप बनाकर रेड बस, ओला, उबेर आदि को एक ही प्लेटफार्म पर समाहित करने, आमजन के हित में जीपीएस आधारित ऑटोमेटिक व्हीकल लोकेशन पद्धति लागू करने का प्रयास किया जायेगा। इससे नियंत्रण कक्ष के माध्यम से विभिन्न वाहनों पर नजर रखी जा सकेगी। स्कूली पाठ्यक्रम में यातायात सुरक्षा का अध्याय शामिल करने की पहल भी की जायेगी। राजपूत ने प्रशासन अकादमी में परिवहन विभाग के अधिकारियों और बस ऑपरेटर्स की संयुक्त बैठक में यह जानकारी दी। मंत्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश के नागरिकों को अच्छी परिवहन सुविधाएँ मुहैया कराने के लिये वर्तमान में लागू व्यवस्था में आवश्यक सुधार किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि सुधारों की प्रक्रिया प्रारंभ की जा चुकी है। प्राइवेट बस ऑपरेटर्स से संवाद की पहल भी इसी दिशा में एक महत्वपूर्ण कड़ी है। उन्होंने कहा कि आज की बैठक में ऑपरेटर्स के साथ हुई बातचीत में उनकी वास्तविक परेशानियों की जानकारी मिली है। सभी वर्ग की अलग-अलग दिक्कतें हैं। आमजन की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए परिवहन नीति में आवश्यक संशोधन भी किये जायेंगे। मंत्री राजपूत ने कहा कि विस्तृत क्षेत्रफल वाले हमारे राज्य में आबादी के अनुपात में आवश्यक लोक परिवहन प्रबंध करने की दिशा में शीघ्र ही कदम उठाये जायेंगे। बैठक में इन्टर सिटी ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी के कार्यों, परिवहन प्रशासन को सुदृढ़ करने, वाहनों के फिटनेस प्रमाण-पत्र की व्यवस्था में सुधार, सुरक्षित वाहन चालन एवं सड़क दुर्घटना में कमी लाने और वाहनों के प्रदूषण की जाँच के लिये केन्द्र स्थापित करने सभी जिला मुख्यालयों और एक लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में बस अड्डों के निर्माण, नये मार्ग पर वाल्वो बस संचालन, नान स्टाप सेवा के रूट में वृद्धि, स्कूल बसों/ वाहनों की सुरक्षा और उनके चेकिंग अभियान के संबंध में चर्चा हुई। परिवहन मंत्री ने विभागीय अधिकारियों को वचन-पत्र के पालन के प्रति गंभीर रहने और नागरिकों को आवश्यक सुविधाएँ देने के लिये सक्रिय रहने के निर्देश दिये। प्रारंभ में बस ऑपरेटर्स ने परिवहन मंत्री द्वारा बैठक बुलाकर संवाद करने की सराहना की। बस ऑपरेटर्स में ग्वालियर के विमल गुप्ता, देवास के श्री वीरेन्द्र बैस, बैतूल के शमीम खान, जबलपुर के संजय शर्मा, चन्देरी के सुरेन्द्र मिश्रा, उज्जैन के मोहम्मद इमरान, सिवनी के संजीव जैन, झाबुआ के प्रकाश जैन, भोपाल के ब्रजमोहन राठी आदि शामिल थे। परिवहन आयुक्त डॉ. शैलेन्द्र श्रीवास्तव एवं अन्य अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.