Monday, 4 February 2019

मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने क्रियान्वयन समिति की बैठक में दिये निर्देश
   बिना पूर्वाग्रह के पात्र किसानों को मिले ऋण माफी का फायदा, सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने आज यहाँ भोपाल जिले में जय किसान फसल ऋण माफी योजना की क्रियान्वयन समिति की बैठक में कहा कि बिना किसी पूर्वाग्रह के और पूरी पारदर्शिता के साथ पात्र किसानों को फसल ऋण माफी योजना का फायदा दिलायें। बैठक में जनसम्पर्क मंत्री पी.सी. शर्मा, भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास मंत्री आरिफ अकील, विधायक आरिफ मसूद सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि जय किसान ऋण माफी योजना का सफल क्रियान्वयन राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। योजना को क्रियान्वित करने में सभी संबंधित अधिकारी पूर्ण निष्पक्षता बरतें। कोई भी पात्र किसान योजना का लाभ लेने से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि किसानों के आवेदनों का सूक्ष्मता से परीक्षण किया जाये। यदि किसानों को आवेदन-पत्र की पूर्ति में कोई कठिनाई हो रही है, तो उसे दूर किया जाये। कलेक्टर डॉ. सुदाम खाडे ने बताया कि जिले में 3 फरवरी तक जय किसान ऋण मुक्ति योजना में लगभग 59 हजार आवेदन प्राप्त हुए हैं। आवेदन-पत्रों की स्क्रूटनी का काम जारी है। जिले की सभी ग्राम पंचायतों में हरे और सफेद फार्म की सूची चस्पां कर दी गई है। जो किसान पात्र हैं, किन्तु उनका नाम दोनों सूचियों में नहीं हैं, उनसे गुलाबी फार्म भरवाये जा रहे हैं। कलेक्टर ने बताया कि किसानों को होने वाली कठिनाइयों के निराकरण के लिए कलेक्टर कार्यालय में नियंत्रण कक्ष बनाया गया है। प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। नोडल अधिकारी फोन द्वारा किसानों की समस्याओं का निराकरण कर रहे हैं। सभी संबंधित अधिकारियों से कहा गया है कि वे पूरी गंभीरता के साथ योजना को क्रियान्वित करने में अपने दायित्वों का निर्वहन करें।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.