Monday, 18 February 2019

रायपुर : विकसित और समृद्धशाली राज्य बनाने, सभी समाजों का सहयोग और समर्थन जरूरी

रायपुर :मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि पुरखों के सपनों के अनुरूप हमें छत्त्ीसगढ़ को विकसित और समृद्धशाली राज्य बनाना है। इसके लिए हमने गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ का संकल्प लिया है। इसके लिए सभी समाजों का सहयोग और समर्थन जरूरी हैं। बघेल आज संभागीय मुख्यालय बिलासपुर में कुर्मी समाज द्वारा आयोजित सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री बघेल ने छत्तीसगढ़ राज्य के प्रणेता खूबचंद बघेल और पूर्व केन्द्रीय मंत्री चंदूलाल चंद्राकर के राज्य निर्माण के लिए योगदान का स्मरण करते हुए कहा कि उनका सपना था कि छत्तीसगढ़ एक समृद्धशाली राज्य बने। हमारी सरकार उनके सपने को साकार करने के लिए समाज के सभी वर्गों की बेहतरी के लिये कार्य कर रही है। सरकार ने नरवा, गरुवा, घुरवा और बाड़ी के संवर्धन के लिए सुराजी गांव योजना शुरू की है, इससे गांवों के साथ-साथ राज्य की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि खेती-किसानी की लागत कम करना और किसानों की आमदनी बढ़ाने के मद्देनजर प्रत्येक गांव में गोठान का निर्माण करने जा रहे हैं। जहां जानवरों के लिये पानी और चारे की व्यवस्था रहेगी। इससे किसानों को मवेशियों से फसल बचाने के लिए बाड़ लगाने की आवश्यकता नहीं होगी। यहां कम्पोस्ट खाद और गोबर गैस बनाने के लिए भी व्यवस्था होगी। बघेल ने कहा कि शराब एक सामाजिक बुराई है। समाज में जागरूकता से ही शराबबंदी सफल हो सकती है। समाज में जागरूकता आने से ही सामाजिक बुराईयां समाप्त किया जा सकता है। छत्तीसगढ़ राज्य को आगे बढ़ाना है तो प्रत्येक समाज को शिक्षा के प्रति जागरूक होना होगा। सरकार जन घोषणा पत्र में किए गए वायदों को पूरा करने के लिये वचनबद्ध है। कार्यक्रम में राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, बिलासपुर विधायक शैलेष पांडे, तखतपुर विधायक श्रीमती रश्मि आशीष सिंह, महासमुंद विधायक चंद्राकर, राज्यसभा के पूर्व सांसद रामाधर कश्यप, पूर्व विधायक बैजनाथ चंद्राकर, सियाराम कौशिक एवं कुर्मी समाज के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.