Wednesday, 9 January 2019

शिक्षक विद्यार्थियों के आदर्श होते हैं: राज्यपाल पटेल

कमला नेहरू शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में हुआ पुस्तक वितरण समारोह
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने टी.टी.नगर स्थित शासकीय कमला नेहरू उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के पुस्तक वितरण कार्यक्रम में शिक्षिकाओं और छात्राओं से कहा कि मैं शिक्षिका रही हूँ इसलिये शिक्षा का, शिक्षकों का और पुस्तकों का महत्व समझती हूँ इसलिये बार-बार मेरा सभी से आग्रह रहता है कि लड़कियों का पढ़ाना जरूरी है। अगर लड़कियाँ पढ़ेंगी तो आत्मनिर्भर बनेंगी, अच्छी माताएँ बनेंगी और देश के विकास में अपना योगदान भी देंगी।राज्यपाल ने छात्राओं से कहा कि 9 साल की उम्र तक बच्चों का 80 प्रतिशत मानसिक विकास होता है। शेष 20 प्रतिशत विकास आगे की उम्र में। प्रायमरी टीचर हमेशा बच्चों की स्मृतियों में रहता है। वही उसका आदर्श भी होता है। प्रायमरी टीचर को इस बारे में सजग रहकर अपना शिक्षण कार्य करना चाहिये। उन्होंने कहा कि बच्चों की शारिरिक- मानसिक और आर्थिक स्थिति के साथ-साथ उसके परिवेश के बारे में शिक्षक को जानकारी होना जरूरी है। तभी उस बच्चे की कठिनाईयों को समझकर उसके सर्वांगीण विकास की ओर ध्यान दे सकेंगे। उसकी समस्या का हल कर पायेंगे। श्रीमती पटेल ने शिक्षिकाओं से कहा कि पढ़ाने के लिये पढ़ना जरूरी है। वे अपने विषय में विशेषज्ञता के साथ-साथ अन्य रूचिकर और जनरल नॉलेज की पुस्तकें भी पढ़ें, जिससे वे बच्चों को बेहतर ढंग से पढ़ा सकें। उन्होंने स्कूल की प्राचार्य से कहा कि छात्राओं का हीमोग्लोबीन टेस्ट अवश्य करवायें और एनीमिक बच्चियों की पहचान कर उनका समुचित इलाज करवायें।राज्यपाल ने कक्षा एक से चौथी तक की छात्राओं को पेंटिंग की किताबें और कलर प्रदान किये। उन्होंने कक्षा 9-10 की छात्राओं को मनोरंजन की किताबें देते हुए कहा कि जो छात्रा साल भर में सबसे ज्यादा किताबें पढ़ेगी, उसे अगले साल मैं पुरूस्कार दूंगी। इस अवसर पर उन्होने स्कूल के संगीत कक्ष, पेंटिंग कक्ष एवं साइंस की प्रयोगशालाओं का अवलोकन किया। उन्होंने स्कूल की दो छात्राओं को उनके आज जन्मदिन पर आर्शीवाद स्वरूप उपहार दिये। इस अवसर पर उन्होंने भोपाल में 9 अक्टूबर को आयोजित पढ़ें भोपाल कार्यक्रम का जिक्र करते हुए कहा कि सभी शिक्षिकाओं और छात्राओं को सप्ताह में दो दिन रूचिकर पुस्तकें अवश्य पढ़ना है, जिससे मस्तिष्क का सही विकास हो।समारोह में स्कूल की छात्राओं ने सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत प्रस्तुत किये। छात्राओं ने स्कूल में पढ़ाई शुरू होने से पहले होने वाले नियमित कार्यक्रमों के तहत आज का पंचाग, आज का सुविचार और आज के प्रमुख समाचारों का वाचन किया।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.