Monday, 14 January 2019

मध्य प्रदेश विधानसभा उपाध्यक्ष कांवरे से नक्सलियों ने मांगी थी फिरौती न मिलने पर जान से मारने की धमकी दी

मध्य प्रदेश विधानसभा की उपाध्यक्ष हिना कांवरे को बीते दिनों नक्सलियों के धमकी भरे दो पत्र मिले थे, जिसमें 20 लाख रुपये की फिरौती न मिलने पर जान से मारने की धमकी दी थी। रविवार की रात हुए सड़क हादसे को इसी धमकी से जोड़कर देखा जा रहा है। हिना कांवरे के पिता तत्कालीन परिवहन मंत्री लिखीराम कांवरे की वर्ष 1999 में नक्सलियों ने हमला कर हत्या कर दी थी। हिना दूसरी बार बालाघाट जिले के लॉजी विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुनी गईं और उसके बाद उन्हें विधानसभा का उपाध्यक्ष चुना गया।हिना के मुताबिक, उनके पास पिछले दिनों पत्रों के जरिए धमकी दी गई थी। इस पत्रों से पुलिस को अवगत करा दिया था। उसी आधार पर सुरक्षा भी बढ़ाई थी। हिना ने स्वयं सतर्कता बरती। धमकी भरा यह पत्र नक्सली पहाड़ सिंह की ओर से लिखा जाना बताया जा रहा है। इस घटना को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने स्वयं हिना से बात की और नक्सली धमकी और हादसे में मारे गए पुलिस जवानों के संदर्भ में चर्चा की। हिना कांवरे रविवार देर रात को लगभग साढ़े 12 बजे जिला मुख्यालय से लॉजी लौट रही थीं। नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने और धमकी के कारण सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए थे। इसी के तहत उनके साथ सुरक्षा बल के कई वाहन थे। इसी दौरान सामने से आ रहे ट्रक ने कांवरे के फॉलो वाहन को टक्कर मार दी। पुलिस के अनुसार, टेका गांव के पास हुए इस हादसे में तीन पुलिसकर्मियों उप निरीक्षक (सब इंस्पेक्टर) हर्षवर्धन सोलंगी, प्रधान आरक्षक (हेड कांस्टेबल) हामिद खान, आरक्षक (कांस्टेबल) राहुल कोलार व निजी वाहन चालक सचिन की मौत हो गई है।, वहीं एक पुलिस जवान घायल हुआ है, जिसकी हालत गंभीर है। सभी मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.