Tuesday, 5 June 2018

BHU के निकेश अमरीका में 857 करोड़ रुपये की तनख़्वाह पाने वाले सीईओ


BHU के निकेश अमरीका में 857 करोड़ रुपये की तनख़्वाह पाने वाले सीईओ

भारत के निकेश अरोड़ा टेक्नोलॉज़ी की दुनिया में सबसे ज़्यादा तनख़्वाह पाने वाले सीईओ (मुख्य कार्यकारी अधिकारी) बन गए हैं. इससे पहले, अरोड़ा सॉफ्ट बैंक और गूगल में काम कर चुके हैं.
अब वो पालो अल्टो नेटवर्क के नए सीईओ बने हैं और उनकी सैलरी सालाना 12.8 करोड़ डॉलर यानी लगभग 857 करोड़ रुपये होगी. पालो अल्टो साइबर सिक्योरिटी कंपनी है. टेक्नोलॉज़ी सेक्टर में निकेश अरोड़ा का लंबा करियर रहा है.
निकेश का सालाना वेतन 6.7 करोड़ रुपये होगा और इतना ही उन्हें बोनस मिलेगा. इसके साथ ही उन्हें 268 करोड़ रुपए के शेयर मिलेंगे जिन्हें वो सात साल तक नहीं बेच पाएंगे.
अगर निकेश, पालो अल्टो के शेयर की क़ीमत सात सालों के भीतर 300 फ़ीसदी बढ़ाने में कामयाब रहेंगे तो उन्हें 442 करोड़ रुपये और मिलेंगे.
इसके साथ ही निकेश अपने पैसे से पालो अल्टो नेटवर्क के 134 करोड़ रुपए के शेयर ख़रीद सकते हैं और इतनी ही क़ीमत के शेयर उन्हें और दिए जाएंगे जिसे वो सात सालों तक बेच नहीं पाएंगे.
सिलिकन वैली स्थित इस कंपनी के शेयर में इधर गिरावट आई है. हालांकि यह गिरावट अनुमान के बिल्कुल उलट है.
हालांकि कंपनी के मुनाफ़े में इस तिमाही 29 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हुई है. यह बढ़ोतरी पिछले साल इसी अवधि की तुलना में है. कंपनी का यह मुनाफ़ा अनुमान से भी बेहतर है.
निकेश अरोड़ा ने मार्क मिकलॉकलीन की जगह ली है. मार्क 2011 से लेकर इस हफ़्ते तक पालो अल्टो के सीईओ थे. मार्क कंपनी में बोर्ड के वाइस चेयरमैन बने रहेंगे. निकेश अरोड़ा बोर्ड के चेयरमैन भी होंगे.
कई लोगों के लिए यह फ़ैसला हैरान करने वाला है. क्रेडिट स्विस के एनलिस्ट ब्रैड ज़ेलनिक उन्हीं लोगों में से एक हैं. ब्रैड ने फ़ाइनेंशियल टाइम्स से कहा कि अरोड़ा के पास साइबर सिक्यॉरिटी का अनुभव नहीं है.

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.