Monday, 11 June 2018

23 जून को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इंदौर में


23 जून को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इंदौर में

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के को इंदौर आने की संभावना है। इसके लिए राज्य सरकार और प्रशासन ने तैयारियां प्रारंभ कर दी है। नेहरू स्टेडियम में माेदी की सभा का आयोजन किया जा रहा है। सभा के लिए स्टेडियम की रंगाई-पुताई प्रारंभ कर दी गई है। रंगाई-पुताई, साफ-सफाई के अलावा स्टेडियम के आसपास अतिक्रमण को भी हटाया जाएगा। हालांकि अब तक प्रशासन द्वारा प्रधानमंत्री की इंदौर यात्रा की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।
- प्रधानमंत्री अपनी इंदौर यात्रा के दौरान इंदौर नगर निगम को लगातार दो बार स्वच्छता सर्वे में नंबर वन आने पर पुरुस्कृत करेंगे। इसके साथ ही कुछ इलेक्ट्रिक बसों का लोकार्पण भी उनसे कराया जाएगा।
- मोदी की सभा के लिए पिछले दिनों कलेक्टर सहित अन्य अधिकारियों ने स्थान की तलाश प्रारंभ की थी उसके बाद नेहरू स्टेडियम को फायनल किया गया था। स्टेडियम की क्षमता लगभग 50 हजार है और यहां मोदी जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके लिए प्रशासन द्वारा स्टेडियम को साफ व सुंदर बनाया जा रहा है। रविवार को नगरीय विकास मंत्री माया सिंह ने पीएम की संभावित सभा के लिए नेहरू स्टेडियम का दौरा किया आैर अधिकारियों की बैठक कर उन्हें निर्देश दिए।
- कुछ दिनों पहले नगर निगम ने स्टेडियम में संचालित की जा रही सालों पुराने गैरज, ऑटो पार्टस सहित अन्य दुकानों को हटा दिया था। इसके अलावा शिवाजी वाटिका को भी तोड़ा गया था। अब निगम यहां बचे शेष निर्माण को भी तोड़ने की तैयारी में है।
2019 में मोदी जीते तो फिर देश में कभी आम चुनाव नहीं होंगे : हार्दिक
प्रधानमंत्री की सभा की तैयारियों के मध्य रविवार को हार्दिक पटेल भी इंदौर में थे। किसानों की समस्याओं को लेकर इंदौर आए हार्दिक पटेल ने मोदी सरकार पर जोरदार हमला बाेला है। उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में अगर मोदी सरकार की दोबारा वापसी हुई तो फिर देश में कभी अाम चुनाव नहीं होंगे।
-चीन की तर्ज पर यहां भी कानून लाकर वे लाइफ टाइम के लिए प्रधानमंत्री बनना चाहेंगे। इंदौर प्रेस क्लब में प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में हार्दिक ने कहा- मैं मप्र में अगले तीन माह में 50 रैली करूंगा। इनमें से चार रैली बड़ी होंगी, जिनमें 2 लाख लोगों के आने का अनुमान है। ये रैलियां राजनीतिक नहीं, बल्कि किसानों और युवाओं को जागरूक करने के लिए होंगी। उन्हें बताएंगे कि इस बार ऐसी सरकार चुनना है, जो कुछ कर सके।
- सरकार कितनी भी ताकत लगा ले, मुझे नहीं रोक सकती। जबलपुर में मेरे ऊपर अंडे फिंकवाए गए। मैं डरने वाला नहीं हूं। जब गुजरात में बड़े गुंडों से नहीं डरा, शिवराज मामा तो फिर भी शरीफ हैं। उन्होंने कहा- बीती रात इंदौर में कई लोगों से मिला। 15 उद्योगपति मदद को तैयार हैं, लेकिन वे कहते हैं कि सरकार ईडी और इनकम टैक्स के जरिए उलझा देगी।
गलत बातों का विरोध करने का मतलब कांग्रेसी एजेंट होना है तो मैं हूं
हार्दिक ने कहा- शिवराज सरकार से मेरी कोई दुश्मनी नहीं है, लेकिन 15 साल बाद भी किसानों की हालत खराब है। उन्हें समर्थन मूल्य नहीं मिल रहा। अात्महत्या हो रही है। पहली बार किसान सड़क पर हैं, अगर उनका साथ देने का मतलब कांग्रेसी एजेंट होना है तो मैं हूं।
नर्मदा के नाम पर झूठ बोलकर सत्ता हथिया ली
नर्मदा का पानी गुजरात में भी पहुंचता है, लेकिन गुजरात चुनाव से पहले यह पानी सिर्फ सी प्लेन चलाने के लिए बुलाया। फिर गांवों में पानी पहुंचना बंद हो गया। इसी झूठ से भाजपा ने गुजरात में सत्ता हथिया ली। गुजरात में हमारी तरफ से विरोध नहीं होता तो भाजपा 150 पार हो जाती।
किसानों की हर समस्या का समाधान हो
किसानों को हर फसल का उचित दाम मिले। केंद्र की प्रमुख योजनाओं का किसानों को लाभ मिले। इसके लिए किसान सड़क पर हैं। सरकार कह रही कि आंदोलन फ्लॉप रहा तो क्या हिंसा करते? तब आंदोलन काे सफल मानते? यह सरकार का अगंभीर रवैया है।
1200 करोड़ का ऑफर ठुकराया
हार्दिक ने कहा- गुजरात में 1200 करोड़ का आफर ठुकरा दिया, लेकिन न झुका, न रुका। भाजपा सत्ता में बने रहने के लिए कुछ भी करती है। 100 करोड़ में विधायक खरीदने तक की कोशिशें हुईं।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.