Saturday, 19 May 2018

येदियुरप्पा के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा के भावुक भाषण


येदियुरप्पा के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा के भावुक भाषण

कर्नाटक विधानसभा में बीएस येदियुरप्पा ने भावुक भाषण देने के बाद मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। बहुमत परीक्षण के दौरान जरूरी संख्याबल न होने के चलते उन्होंने सीएम की कुर्सी त्याग दी। करीब 20 मिनट के भाषण में उन्होंने कई बड़ी बातें कही।
उनके भाषण की 10 बड़ी बातें:-
1. येदियुरप्पा ने कहा कि मैं बीते दो साल में राज्य के हर विधानसभा क्षेत्र और तहसील में गया। जहां मैं लोगों से मिला और उनका दर्द महसूस किया।
2. मेरे पास 104 विधायक हैं राज्य के लोगों ने हमें सहयोग किया और सबसे बड़ी पार्टी बनाया। लेकिन राज्ये की जनता ने कांग्रेस और जेडीएस को जनादेश नहीं दिया।
3. उन्होने कहा कि ये लोग आपस में लड़ते रहे और मुख्यमंत्री पद के लिए कहते रहे कि मैं बनूंगा और मैं बनूंगा। जबकि ये चुनाव में एक दूसरे के खिलाफ लड़ते रहे।
4. 3700 किसानों ने राज्य में आत्महत्या की है। पूरा राज्य जानता है कि कांग्रेस ने कैसा शासन चलाया है। जबतक मैं जीवित हूं तब तक किसानों के लिए काम करता रहूंगा।
5. आज लोग राज्य में पानी की समस्या से जुझ रहे हैं देश में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है देश की जनता ने कांग्रेस को नकार दिया है।
6. मैं हर समय राज्य के लोगों की सेवा करना चाहता हूं। हमने लोगों के आंसू पोछे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस की सरकार थी तब भी मोदी सरकार ने यहां के लोगों की मदद की।
7.उन्होंने कहा कि मैं लोगों के घर जाकर सोया हूं। उनके दर्द को जाना है। आज राज्य में इमानदार लोगों की जरूरत है।
8. जब तक मेरी सांस चलेगी मैं राज्य में हर जगह जाऊंगा और फिर जीतकर आउंगा। 
9.  येदियुरप्पा ने कहा कि हम लोकसभा चुनाव में 28 में 28 सीटें जीतेंगे।
10. हारी बाजी जीतने में लगी है कांग्रेस और जेडीएस।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.