Saturday, 5 May 2018

असंगठित श्रमिक विशेष ग्राम सभाओं को मुख्यमंत्री चौहान ने संबोधित किया


असंगठित श्रमिक विशेष ग्राम सभाओं को मुख्यमंत्री चौहान ने संबोधित किया

प्रदेश में असंगठित क्षेत्र के श्रमिक भाई-बहनों को श्रमिक सुरक्षा एवं श्रमिक कल्याण योजनाओं की जानकारी देने के लिये 7 मई को शाम 5 बजे विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन किया जायेगा। ग्राम सभाओं की इन विशेष बैठकों में श्रमिक कल्याण योजनाओं और मुख्यमंत्री असंगठित श्रमिक कल्याण योजना के संबंध में जानकारी दी जायेगी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान इसी दिन शाम 5.30 बजे विशेष ग्राम सभाओं को संबोधित करेंगे और उपस्थित श्रमिक भाई-बहनों से संवाद करेंगे। उल्लेखनीय है कि श्री चौहान के मार्गदर्शन में प्रदेश में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के कल्याण की अनूठी योजना लागू की गई है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर प्रसारित संदेश में कहा है कि असंगठित क्षेत्र के श्रमिक अपनी सुख-सुविधाओं और अधिकारों के लिये आवाज ही नहीं उठा पाते थे। अब राज्य सरकार ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुये असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के कल्याण और उनकी सेवा की अनूठी योजना बनाई है। इस योजना का लाभ देने के लिये श्रमिकों का पंजीयन किया गया है। श्री चौहान ने पंजीकृत श्रमिकों से आग्रह किया है कि वे ग्राम सभा में पढ़ी जाने वाली सूची में अपना नाम अवश्य देख लें। यदि उनका नाम छूट गया है, तो उसे तत्काल जुड़वायें ताकि योजना का पूरा लाभ उन्हें मिल सके।
श्री चौहान ने कहा कि इस योजना में श्रमिकों को जमीन के पट्टे देने, पक्का मकान देने, उनके बच्चों की पढ़ाई-लिखाई और इलाज का इंतजाम करने, श्रमिक बहनों को प्रसूति में सहायता देने और श्रम करने के दौरान अपंगता होने पर सहायता राशि देने, दुर्घटना होने पर मुआवजा देने और यहाँ तक कि अंतिम संस्कार के लिये भी सहायता देने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि इस योजना में ढ़ाई एकड़ तक की जमीन वाले किसान भी शामिल किये गये हैं, क्योंकि वे खेतिहर श्रमिक की श्रेणी में आते हैं।
विशेष ग्राम सभाओं में संबंधित गाँव के पंच-सरपंच अथवा ग्राम सभा के गणमान्य सदस्य मुख्यमंत्री के संदेश का भी वाचन करेंगे। मुख्यमंत्री ने आज यहाँ अपने निवास पर विशेष ग्राम सभाओं की व्यवस्थाओं और कार्य-योजना की विस्तृत समीक्षा की।
इस अवसर पर राजस्व मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता, मुख्य सचिव श्री बी.पी. सिंह, अपर मुख्य सचिव ग्रामीण विकास श्री इकबाल सिंह बैस, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री ए.पी. श्रीवास्तव, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अशोक बर्णवाल, प्रमुख सचिव श्री विवेक अग्रवाल, प्रमुख सचिव श्री एस.के. मिश्रा और वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.