Tuesday, 22 May 2018

बेनामी कानून बनने के बाद रिटायर्ड आईएएस अधिकारी एमए खान की 23 करोड़ की 10 प्रॉपर्टी जब्त


बेनामी कानून बनने के बाद रिटायर्ड आईएएस अधिकारी एमए खान की 23 करोड़ की 10 प्रॉपर्टी जब्त

आयकर विभाग के बेनामी विंग ने रिटायर्ड आईएएस अधिकारी एमए खान की 23 करोड़ रुपए की 10 प्रॉपर्टी अटैच कर ली हैं। इनमें अरेरा कॉलोनी की प्राइम लोकेशन में तीन बंगले, वीआईपी रोड पर 11,000 वर्गफीट का भूखंड, फरीदाबाद-जबलपुर में दो फ्लैट और 10 एकड़ कृषि भूमि शामिल है। बेनामी प्रॉपर्टी लेनदेन (निषेध), सुधार कानून-2016 के अस्तित्व में आने के बाद भोपाल में यह किसी वर्तमान या रिटायर्ड आईएएस अधिकारी के खिलाफ की गई प्रॉपर्टी जब्ती की यह सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है। मामले में दिलचस्प ये है कि इतनी बेनामी प्रॉपर्टी होने के बावजूद खान कोहेफिजा स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के जिस घर में रहते हैं, वह उनके नाम नहीं है।
नोटिस देकर 15 दिन में मांगा जवाब
बेनामी विंग ने इससे पहले आईएएस दंपति अरविंद और टीनू जोशी के खिलाफ भी कार्रवाई की थी, लेकिन यह कार्रवाई बैंक डिपाजिट के खिलाफ की गई थी। जवाब संतोषप्रद न मिलने पर धारा 24 (3) के तहत 90 दिन का प्रोविजन अटैचमेंट कर दिया गया। विभाग ने बेनामी कानून की धारा 24(1) के तहत खान को नोटिस भेजकर 15 दिन के भीतर अपना पक्ष रखने को कहा है। इसके बाद विभाग यह मामला बेनामी के लिए नियुक्त एडजुकेटिंग अथॉरिटी के पास भेजा जाएगा। आयकर विभाग के अफसरों की मानें तो पूरे सर्विस पीरियड के दौरान खान को वेतन-भत्तों के रूप में करीब 2 करोड़ मिले होंगे, फिर भी उन्होंने 23 करोड़ की संपत्ति जुटा ली।
1992 के दंगों के दौरान भोपाल कलेक्टर थे खान
ये हैं 10 प्रॉपर्टी कीमत रु. में
1. कृषि भूमि कुल 5.5 एकड़। बाजयाफ्त,फंदा 2.0 करोड़
2. बंगला 2400 वर्गफीट, अरेरा कॉलोनी ई-4-3162.0 करोड़
3. बंगला 4500 वर्गफीट, अरेरा कॉलोनी ई-3-91 4.0 करोड़
4. बंगला 300 वर्गफीट, अरेरा कॉलोनी, ई-2,146 3.0 करोड़
5. बंगला 2500 वर्गफीट, बी-90 हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, 2.0 करोड़
6. 11,000 वर्गफीट लैंड, होटल इंपीरियल सेब्रे,कोहेफिजा 7.0 करोड़
7. फ्लैट 900 वर्गफीट, चार्मवुड विलेज, फरीदाबाद 0.5 करोड़
8. कृषि भूमि एक एकड़। बाजयाफ्त, फंदा ब्लॉक, हुजूर तहसील 0.50 करोड़
9. कृषि भूमि चार एकड़। बाजयाफ्त, फंदा ब्लॉक, हुजूर तहसील 2.0 करोड़
10. फ्लैट एरिया 1000 वर्गफीट, आशियाना अपार्टमेंट, जबलपुर। 0.50 करोड़
एक बंगले में भाजपा नेता
खान के अरेरा कॉलोनी स्थित बंगलों में कई प्रभावशाली लोग रहते हैं। ई-4 के बंगले में एक भाजपा नेता रहते हैं। ई-2 में मप्र अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य रह रहे। ई-2 में एक सरकारी संस्था का अनाथालय है।
8 साल पहले हुई थी सर्च, तब भाग निकले थे खान
एमए खान के यहां 20 10 में आयकर विभाग ने छापे मारे थे। उस समय खान को छापे की भनक पहले ही लग गई थी। तब वे घर पर ताला लगाकर भाग गए थे। आयकर विभाग की टीम ताला तोड़कर घर में दाखिल हुई थी। उसे पूरा फ्रीज ताजे मांस से भरा मिला था।
कई अहम पदों पर रहे हैं खान
खान सेवाकाल में कई अहम पदों पर रहे। नगरीय प्रशासन के प्रमुख सचिव विवेक अग्रवाल के पहले वे ही ऐसे आईएएस थे जो नगरीय प्रशासन विभाग में सचिव होने के साथ इसी विभाग में आयुक्त रहे थे। 1992 में भोपाल में दंगों के दौरान वे भोपाल कलेक्टर रहे थे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.