Sunday, 20 May 2018

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में आदिवासियों को और अधिक सशक्त बनाया जायेगा

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में आदिवासियों को और अधिक सशक्त बनाया जायेगा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आदिवासी समुदाय के उत्थान की दिशा में शिक्षा को और आगे बढाने के निरंतर प्रयास किए जा रहे है। जिसमें बच्चो की पढ़ाई-लिखाई का खर्चा राज्य सरकार उठा रही है। समुदाय के व्यक्ति अपने बच्चों की पढ़ाई पर अधिक ध्यान देकर उनको सक्षम बनाये। जिससे वे उच्च पदो पर पहुँचकर आदिवासी समुदाय का नाम रोशन करने में सक्षम बन सके। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज श्योपुर जिले के सैसईपुरा में ग्वालियर एवं चम्बल संभाग के जिलो से आए आदिवासी समुदाय के व्यक्तियों से सहरिया विकास विमर्श की दिशा में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र तोमर, श्योपुर क्षेत्र के विधायक श्री दुर्गालाल विजय, पोहरी क्षेत्र के विधायक श्री प्रहलाद भारती भी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार के माध्यम से आदिवासियों के उत्थान की दिशा में निरंतर प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने कहा कि सहरिया बस्तियों के सर्वांगीण विकास की दिशा में निरंतर कदम उठाए जा रहे है। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में आदिवासी समुदाय के हितो को ध्यान में रखते हुए कई कल्याणकारी एवं जनहितेषी कार्यक्रम संचालित किए जा रहे है।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सहरिया जाति को सशक्त बनाने की दिशा में सहरिया विकास अभिकरण के माध्यम से अनेक प्रकार की सुविधाऐं प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि आदिवासी समुदाय की महिलाओं को एक हजार रूपए की सहायता राशि उपलब्ध कराई जा रही है। इसके साथ ही आदिवासियों को राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत सब्ससिडी प्रदान की जा रही है।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आदिवासी समुदाय के व्यक्तियों को शिक्षा के अवसर दिलाने के लिए छात्रावास, आश्रम संचालित किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि आदिवासियों में कौशल उन्नयन के लिये प्रशिक्षण की भी सुविधा दी जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सहरिया समुदाय के ग्वालियर चंबल संभाग से आए व्यक्तियों के सुझाव प्राप्त किए। आदिवासी विकास विमर्श के कार्यक्रम में सर्वश्री सीताराम आदिवासी, श्रीमती गुड्डीबाई, जग्गोबाई, प्रहलाद आदिवासी, उत्तम आदिवासी, नंदकिशोर, महेश आदिवासी, संजय, जगराम आदिवासी सहित करीबन 350 सहरिया जाति के व्यक्तियों ने आदिवासियों के उत्थान की दिशा में महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.