Tuesday, 24 April 2018

ग्वालियर में उद्योग मंत्री शुक्ल द्वारा औद्योगिक विकास की समीक्षा


ग्वालियर में उद्योग मंत्री शुक्ल द्वारा औद्योगिक विकास की समीक्षा

 उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने आज ग्वालियर में इण्डस्ट्रियल इन्फास्ट्रक्चर डॅवलपमेंट कारपोरेशन की परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि ग्वालियर जिले के प्लास्टिक पार्क बिलौआ और टैक्सटाईल इनक्यूबेशन सेन्टर तथा मुरैना जिले के औद्यौगिक क्षेत्र सीतापुर तथा औद्यौगिक क्षेत्र पिपरसेवा के अधोसंरचना विकास के कार्य शीघ्र पूर्ण कराये जायें।
इस मौके पर बताया गया कि प्लास्टिक पार्क की स्थापना ग्राम बिलौआ 37.632 हैक्टेयर भूमि पर 80 करोड़ रू. की लागत से की जा रही है। मिनिस्ट्री ऑफ केमीकल एण्ड फर्टिलाइजर भारत सरकार द्वारा राशि 80 करोड़ की स्वीकृति प्रदान की गई है, जिसमें केन्द्र शासन से राशि 40 करोड़ का अनुदान प्राप्त होगा। परियोजना के क्रियान्वयन के लिए मध्यप्रदेश प्लास्टिक सिटी डॅवलपमेंट कारपोरेशन ग्वालियर लिमिटेड का गठन किया जा चुका है। वस्त्र मंत्रालय भारत सरकार द्वारा ग्वालियर में टैक्सटाईल इनक्यूबेशन सेंटर की स्थापना के लिए 15.72 करोड़ रूपये की परियोजना को मंजूरी दी गई है। इस सेंटर में रेडीमेट गारमेंट के उद्यमियों को आधुनिक मशीन सहित अन्य साधन उपलब्ध कराये जायेंगे। इससे गारमेंट उद्योगपतियों को ट्रेनिंग एवं आधुनिक मशीनों द्वारा उच्च गुणवत्ता के उत्पादन के लिए 'प्लग एण्ड प्ले' की सुविधा प्राप्त होगी।
इस अवसर पर जानकारी दी गई कि औद्योगिक क्षेत्र सीतापुर के लिए 352.891 हैक्टयर भूमि का आधिपत्य प्राप्त किया गया है। फैस-1 में 56.46 हैक्टर भूमि पर 20 करोड़ रूपये के विकास कार्य कराये गए हैं। फैस-1 मे 25 एकड़ भूमि उद्योगों को प्लांट की स्थापना के लिए आवंटित की जा चुकी है। सीतापूर औद्यौगिक क्षेत्र फैस-2 में 155.49 हैक्टयर भूमि पर 77.22 करोड़ के अधोसंरचना विकास कार्य प्रगति पर है।
इसी प्रकार, औद्यौगिक पिपरसेवा, 80.43 हेक्टर भूमि पर राज्य स्तरीय निवेश कॉरीडोर के तहत् राशि 69.74 करोड़ की परियोजना लागत से विकसित किया जा रहा है।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.