Thursday, 19 April 2018

मुख्यमंत्री ने तेंदूपत्ता संग्राहक उर्मिला और पार्वती को पहनाई चप्पल


मुख्यमंत्री ने तेंदूपत्ता संग्राहक उर्मिला और पार्वती को पहनाई चप्पल

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि वन उत्पादों का बाजार में कम मूल्य होने पर सरकार समर्थन मूल्य पर उत्पाद को खरीदेगी। तेन्दूपत्ता संग्राहकों की मजदूरी 1250 से बढ़ाकर दो हजार रूपये प्रति मानक बोरा कर दी गई है। समर्थन मूल्य पर महुआ फूल एवं गुल्ली की संग्रहण दर 14 रू. से बढ़ाकर 30 रू. प्रति किलो की गई है। अचार गुठली की 100 रू. प्रति किलो मूल्य पर खरीदी की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री आज सीधी जिले में कुसमी तहसील के तमसार में तेन्दूपत्ता संग्राहक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने तेन्दूपत्ता संग्राहकों को ऑनलाईन ढाई करोड़. का बोनस वितरण किया।
श्री चौहान ने विधानसभा क्षेत्र धौहनी में 30 करोड़ 70 लाख रू. की लागत के 38 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। साथ ही, 166 स्व-सहायता समूहों के 1992 परिवारों, 118 स्व-सहायता समूहों के ग्राम संगठनों को एक करोड़ 14 लाख 70 हजार की राशि का वितरण किया। इसके अलावा, उज्ज्वला योजना में एक हजार महिलाओं को गैस कनेक्शन, 1291 व्यक्तियों को भू-अधिकार-पत्र एवं राजस्व पट्टे, हितग्राही मूलक योजनाओं के 20 हजार 474 हितग्राहियों को 47 करोड़ 35 लाख से ज्यादा के हितलाभ प्रदान किये।
चरण-पादुका योजना का शुभारम्भ
सीधी जिले के लुरघुटी समिति की तेन्दूपत्ता संग्राहक उर्मिला बैगा और पार्वती पनिका के पैरों में अब छाले नहीं पड़ेंगे। उनको जंगल में साफ और ठण्डा पानी पीने के लिए नहीं भटकना पड़ेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इन संग्राहकों को अपने हाथों से चप्पल पहनाई और साड़ी तथा पानी की बॉटल भेंट की।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में चरण-पादुका योजना का शुभारम्भ सीधी जिले के टंसार से किया। इस योजना से सीधी जिले के 62 हजार परिवार लाभान्वित होंगे।
अनुज और शिवम के हृदय का होगा ऑपरेशन
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्राम चन्द्रवाही तहसील बहरी के अनुज रावत को 95 हजार एवं ग्राम तेदुआ नं.2 तहसील सिहावल के शिवम कोरी को मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना में इलाज के लिए 40 हजार रूपये की स्वीकृति दी।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अब महुआ का फूल, साल का बीज, अचार की गुठली बीनने वाले, फसल काटने वाले, गिट्टी तोड़ने और हम्माली करने वाले, ढाई एकड़ से कम जमीन वाले किसान सहित सभी असंगठित श्रमिकों को शासन की योजनाओं का भरपूर लाभ दिया जायेगा। हर गरीब को जमीन मिलेगी। वन-भूमि पर पुराने कब्जाधारियों को वनाधिकार पट्टे दिये जायेंगे। हर पट्टाधारी को मकान बनाने के लिये प्रधानमंत्री आवास और मुख्यमंत्री अंत्योदय योजना में वित्तीय सहायता दी जायेगी।
श्री चौहान ने कहा कि अब श्रमिक परिवार में गर्भ में बच्चा आने पर 6 माह से 9 माह के बीच पर उनकी माँ के खाते में 4 हजार रूपये की राशि ट्रांसफर की जायेगी। बेटी/बेटा के जन्म पर 12 हजार रूपये अलग से दिये जायेंगे। श्रमिकों के बच्चों की पहली कक्षा से उच्च शिक्षा तक की पूरी फीस राज्य सरकार भरेगी। उन्होंने बताया कि असंगठित श्रमिक कल्याण योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिये हर गॉव में 5-5 लोगों की समिति भी गठित की जायेगी।
श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश सरकार अगले माह एक लाख नौकरियॉ निकालने जा रही है। इन नौकरियों में महिलाओ के लिए आरक्षण की व्यवस्था रहेगी। पुलिस की भर्ती मे भी महिलाओं को 33 प्रतिशत का आरक्षण दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस वर्ष से स्कूल ड्रेसों की सिलाई का काम आजीविका मिशन की महिलाओं द्वारा किया जायेगा। इसके साथ ही पोषण-आहार भी फेडरेशन बनाकर स्व-सहायता समूह की महिलाएँ बनायेंगी।
इस अवसर पर सांसद श्रीमती रीती पाठक, विधायक श्री कुँवर सिंह टेकाम, श्री केदार नाथ शुक्ल, विध्य विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री सुभाष सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अभ्युदय सिंह और राज्य वन लघु वनोपज संघ के अध्यक्ष श्री महेश कोरी उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.