Thursday, 15 March 2018

राज्यपाल ने सैनिक कल्याण के लिए सहायता राशि इकट्टा करने के लिए साप्ताहिक अभियान चलाने के निर्देश दिए

राज्यपाल ने सैनिक कल्याण के लिए सहायता राशि इकट्टा करने के लिए साप्ताहिक अभियान चलाने के निर्देश दिए

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज सैनिक कल्याण संचालनालय की समामेलित विशेष निधि (ASF) की 19वीं बैठक में कहा कि सैनिक कल्याण के तहत राशि एकत्रित करने के लिए हर वर्ष झण्डा दिवस 1 दिसम्बर से 7 दिसम्बर तक प्रदेश में बड़े स्तर पर साप्ताहिक अभियान में चलाया जाए। जिलों को राशि एकत्रित करने के लिए दिये जाने वाले लक्ष्य में 20 प्रतिशत वृद्धि की जाये। राज्यपाल ने इस अभियान में महिलाओं तथा स्कूलों एवं कालेजों के छात्र-छात्राओं को भी अधिक से अधिक संख्या में शामिल करने के निर्देश दिये।
राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि आतंकवाद और नक्सवाद की घटनाओं में तथा सीमाओं की रक्षा करते हुए घायल तथा शहीद होने वाले सैनिकों के चित्र देखकर देशवासियों की आत्मा विचलित हो जाती है। इसलिए हमारा कर्तव्य है कि हम सैनिक कल्याण के लिए अधिक से अधिक राशि जमा कराने में अपनी सक्रिय भूमिका निभायें। घर-घर, बाजार, चौराहों पर, औद्योगिक तथा व्यापारिक संस्थानों और सरकारी कार्यालयों में जाकर सहायता राशि एकत्रित करें। उन्होंने कहा कि सैनिकों, भूतपूर्व सैनिकों, सैनिकों की विधवाओं तथा सैनिकों के आश्रितों तथा बच्चों, विशेष रूप से विद्यार्थियों तथा बेटियों को राज्य सरकार की योजनाओं से लाभ दिलाने का प्रयास किया जाये। राज्यपाल ने कहा कि सैनिकों की विधवाओं को प्रशिक्षण देकर सम्मानजनक व्यवसाय शुरू करने में मदद की जाये। प्रदेश सरकार की लाड़ली लक्ष्मी योजना, छात्राओं के लिए साइकिल वितरण तथा सामूहिक विवाह योजना से सैनिक परिवारों को भी जोड़ने का प्रयास किया जाये। सैनिकों के बच्चों को प्राइवेट स्कूलों और कालेजों में प्रवेश दिलाने तथा उनकी शिक्षा का पूरा खर्च स्कूल प्रबंधन को वहन करने के लिये कहा जाये।
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने संभागीय आयुक्तों और जिला क्लेक्टरों से सैनिक कल्याण कार्यक्रम के तहत चलाये जा रहे निर्माण तथा अन्य कार्यों में सहयोग प्रदान करने तथा सैनिक परिवारों को प्रदेश सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए गंभीरतापूर्वक प्रयास करने के निर्देश दिये।
इस अवसर पर राज्यपाल ने सैनिक कल्याण निधि में सहयोग करने वाले प्रदेश के चार सम्भागों और 33 जिलों के कलेक्टरों को लक्ष्य से अधिक राशि एकत्रित करने पर स्मृति चिन्ह और प्रशस्ति पत्र भेंट कर पुरस्कृत किया। सैनिक कल्याण संचालक ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) श्री आर..एस. नौटियाल ने वर्ष 2017 और 2018 में किये गये कार्यों तथा आगामी वित्तीय वर्ष में किये जाने वाले कार्यों का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया।
बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह श्री के.के.सिंह, राज्यपाल के प्रमुख सचिव डॉ.एम मोहन राव, प्रमुख सचिव वित्त श्री मनोज गोविल और सभी जिलों के जिला सैनिक कल्याण अधिकारी उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.