Sunday, 11 March 2018

सरकार ईमानदार तो 140 करोड़ रूपए बाहरी संस्थाओं को दिए गए, उनकी सूची जारी करे

सरकार ईमानदार तो 140 करोड़ रूपए बाहरी संस्थाओं को दिए गए, उनकी सूची जारी करे

नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि प्रदेश में कर्मचारियों में असंतोष की ज्वाला विस्फोट के मुहाने पर



भोपाल 10 मार्च 2018। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने प्रियजनों को बड़े पैमाने पर जो विज्ञापन बांटे हैं, उस पर पर्दा डालने के लिए उस बात को प्रचारित और नौटंकी कर रहे हैं जो सदन की कार्यवाही में ही नहीं है। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने मांग की अगर सरकार विज्ञापन के मामले में ईमानदार है तो वह उन बाहरी संस्थाओं और एजेंसियों की सूची जारी करें, जिन्हें 140 करोड़ रूपए के विज्ञापन दिए गए हैं।

        नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि मीडिया के नाम पर सरकार ने भाजपा, आरएसएस सहित ऐसे प्रदेश के बाहरी लोगों को विज्ञापन दिए हैं जिनके जरिए यह सरकार और उसमें बैठे लोग अपना हिडन एजेंडा लागू कर रहे हैं। सिंह ने कहा कि डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने ऐसे लोगों को मीडिया के नाम पर ओबलाइज किया जो उनके हितों को साध रहे हैं।  सिंह ने कहा कि विधानसभा में पिछले 4 वर्षों में प्रचार-प्रसार पर खर्च हुए 640 करोड़ रूपए की जो जानकारी दी गई है यह बिल्कुल असत्य है। सरकार ने कुल विज्ञापन पर खर्च छुपाया है। उन्होंने कहा कि मेरी जानकारी है कि पिछले 4 वर्ष में 3500 करोड़ से अधिक प्रचार-प्रसार पर खर्च किया गया है। उन्होंने कहा कि मैंने राज्यपाल के अभिभाषण पर ही कहा था कि जितनी प्रचार-प्रसार पर राशि इस सरकार ने खर्च की है अगर वह किसानों और गरीबों पर खर्च कर दी होती तो आज प्रदेश की तस्वीर ही कुछ और होती।

        सिंह ने कहा आज कर्मचारियों में बेहद असंतोष है। मुख्यमंत्री ने विधानसभा में कहा था कि जिससे आस होती है उससे ही गुहार लगाई जाती है। लेकिन यह गुहार नहीं भयानक असंतोष है। सिंह ने कहा कि जब अध्यापक सिर मुंडवा रहे हो, खून के दिये जला रहे हों, आत्महत्या करने पर उतारू हो, भाजपा को वोट न देने की शपथ ले रहे हो, और कमल का फूल हमारी भूल कह रहे हों, तो यह गुहार नहीं गुबार है जो असंतोष की ज्वाला के रूप में विस्फोट के मुहाने पर है।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.