Thursday, 22 February 2018

पाकिस्तानी कलाकारों पर लगे प्रतिबंध केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो की मांग,


पाकिस्तानी कलाकारों पर लगे प्रतिबंध केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो की मांग


केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा है कि जब तक पड़ोसी मुल्क आतंकवाद जैसी घिनौनी हरकत से बाज नहीं आता है तब तक के लिए पाकिस्तानी कलाकारों पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। ऐसी पहल बॉलीवुड को ही करनी चाहिए। फिल्म 'वेलकम टू न्यूयार्क' के गीत पर केंद्रीय मंत्री के बुधवार के इस बयान ने गुरुवार को नया मोड़ ले लिया। इस फिल्म में पाकिस्तानी गायक राहत फतेह अली खान को मौका दिया गया है। पाकिस्तानी गायक ने इस विवाद पर कहा है कि संगीत की कोई सीमा नहीं होती है।
एक दिन पहले 'वेलकम टू न्यूयार्क' के प्रोड्यूसर वासु भगनानी के संवाददाता सम्मेलन में यह विवाद पैदा हुआ। भगनानी ने कहा कि वह अपनी फिल्म से 'इश्तेहार' शीर्षक गीत को नहीं हटा सकते हैं। लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि भविष्य में वह पड़ोसी मुल्क के कलाकारों के साथ काम नहीं करेंगे।
बाबुल सुप्रियो ने कहा था, 'जब हमारे सैनिक सीमा पर शहीद हो रहे हैं तो बॉलीवुड के भीतर से ही एक पहल होनी चाहिए। जब तक पड़ोसी देश आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्त है तब तक किसी भी पाकिस्तानी को भारत में काम नहीं करने नहीं दिया जाएगा। एक कलाकार होने के नाते मेरा मानना है कि कला की कोई सीमा नहीं होती। लेकिन मैं सोचता हूं कि क्रिकेट और संगीत के माध्यम से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कम नहीं किया जा सकता है। क्रिकेट में हम पाकिस्तानी खिलाडि़यों को आइपीएल में खेलने नहीं दे रहे हैं। ऐसे में मेरा मानना है कि बॉलीवुड को भी एक रुख अपनाना चाहिए।'
संगीत की सीमा नहीं होती : राहत फतेह अली खान
पाकिस्तानी गायक राहत फतेह अली खान ने ट्वीट कर कहा है, 'बहुत कुछ कहे जाने के बीच मैं यही कहना चाहूंगा कि संगीत की कोई सीमा नहीं होती है। मैं उन सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहूंगा जिन्होंने उस गीत के लिए प्यार जताया है जिसका मैं हिस्सा हूं।'

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.