Friday, 9 February 2018

शेयरों में वैश्विक दबाव से फिर गिरावट, सेंसेक्स 407 अंक टूटा


शेयरों में वैश्विक दबाव से फिर गिरावट, सेंसेक्स 407 अंक टूटा

वैश्विक स्तर पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी के दबाव और एक दिन की तेजी के बाद प्रॉफिट सेलिंग से बीएसई सेंसेक्स इस सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को 407 अंक की गिरावट के साथ 34,005.76 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी में भी 121.90 अंक की भारी नरमी रही जिससे यह इंडेक्स 10454.95 अंक पर बंद हुआ। चार जनवरी के बाद यह सेंसेक्स की सबसे बड़ी नरमी भी रही। उस समय इसका बंद स्तर 33,969.64 अंक रहा था।
साप्ताहिक आधार पर बीएसई सेंसेक्स 1,060.99 अंक टूटा जो 3.02 फीसदी की गिरावट दर्शाता है। वहीं एनएसई निफ्टी भी 305.65 अंक यानी 2.84 फीसदी नीचे आ गया। अगस्त 2017 के बाद यह सबसे खराब प्रदर्शन वाला सप्ताह भी रहा।
बीएनपी परिबास म्युचुअल फंड के सीनियर फंड मैनेजर इक्विटीज के. लक्ष्मणन के अनुसार अमेरिका में लगातार दूसरे सप्ताह जॉबलेस आंकड़ाें में कमी आई है जिससे मुद्रास्फीति के बढ़ने और ब्याज दरों में इजाफे के आसार प्रबल हो गए हैं। ग्लोबल रेट्स बढ़ने से उभरते बाजारों में फंड निवेश प्रभावित होगा।
यस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक क्रमश: 2.84 फीसदी और 2.33 फीसदी टूट गए। अन्य मंदी वाले शेयराें में एचडीएफसी लि., इंफाेसिस, एक्सिस बैंक, कोटक बैंक, भारती एयरटेल, एसबीआई, विप्रो, टाटा मोटर्स, एलएंडटी, अडाणी पोर्ट्स, बजाज ऑटो, आरआईएल मुख्य रहे। इनके विपरीत टाटा स्टील, एशियन पेंट्स, डॉ.. रेड्डीज, टीसीएस, कोल इंडिया में 1.83 फीसदी तक की तेजी रही।
सेक्टोरियल इंडेक्स की बात करें मेटल और रियल्टी को छोड़ सभी सूचकांक लाल निशान में कारोबार कर बंद हुए। सबसे ज्यादा बिकवाली बैंकिंग शेयर्स में देखने को मिली है। बैंक (1.75 फीसदी), ऑटो (0.95 फीसदी), फाइनेंशियल सर्विस (1.78 फीसदी), एफएमसीजी (0.46 फीसदी), आईटी (0.76 फीसदी) और फार्मा (0.43 फीसदी) की गिरावट देखने को मिली।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.