Friday, 16 February 2018

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अरूण यादव की पत्रकार वार्ता


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अरूण यादव की पत्रकार वार्ता
             


प्रदेश में मुंगावली-कोलारस विधानसभा के उपचुनाव की प्रक्रिया चल रही है, दिनांक 24 फरवरी, 18 को उक्त दोनों ही क्षेत्रों में मतदान होना नियत है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा मतदाता सूचियों की सघन चैकिंग करने पर पाया गया है कि प्रत्येक पोलिंग बूथ पर मतदाता सूचियों का वास्तविक मतदाताओं के साथ मिलान करने पर यह चौकानें वाले तथ्य सामने आये हैं कि मुंगावली विधानसभा क्षेत्र में हजारों की संख्या में एक-एक मतदाता का नाम दो-दो, तीन-तीन स्थानों पर मतदाता सूची में दर्ज है तथा मतदान केंद्र भी अलग-अलग हैं, ऐसी ही स्थिति कोलारस विधानसभा क्षेत्र की मतदाता सूची की है, जहां जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा जानबूझकर फोटो युक्त मतदाता सूची कांग्रेस प्रत्याशियों को उपलब्ध नहीं करायी गई है, जो सूची उपलब्ध करायी गई है, मतदाताओं के फोटो उपलब्ध नहीं है, लेकिन इसके बावजूद भी करीब 20 हजार दोहरे मतदाताओं की संख्या सामने आई है।
 मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से मुंगावली एवं कोलारस की मतदाता सूचियों में बड़े पैमाने पर घपलेबाजी होने की शिकायत निर्वाचन आयोग को समस्त दस्तावेजों एवं सबूतों के साथ की गई है, लेकिन अभी तक प्रशासनिक स्तर पर मतदाता सूचियों में कोई सुधार कराने की योजना प्रतीत नहीं हो रही है और ऐसा लग रहा है कि सत्तारूढ़ भाजपा के दबाव में उन्हीं मतदाता सूचियों से मतदान कराने का कार्य किया जायेगा, जिन मतदाता सूचियों को कांग्रेस कमेटी द्वारा फर्जी मतदाता सूची संबोधित करते हुए चुनाव आयोग को सौंपी गई है। यदि बिना मतदाता सूची में सुधार किये हुए 24 फरवरी, 18 को मतदान होता है, तब पक्षपातपूर्ण तरीके से मतदान होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।  मतदाता सूचियों में जो अनियमितताऐं उजागर हुई हैं, वह निम्नानुसार हैं:-
             एक ही मतदाता एक ही फोटो पहचान पत्र के साथ तीन से पांच विभिन्न-विभिन्न पहचान पत्र क्रमांक संख्या के साथ अलग-अलग मतदाता सूची में अलग-अलग मतदान केंद्रों पर जोड़े गये हैं।
             एक ही फोटोग्राफ से दो से तीन मतदाताओं के नाम अलग-अलग मतदान केंदों पर मतदाता सूची में जोडे़ गये हैं।
             मतदाता सूची में ऐसे भी उदाहरण प्राप्त हुए हैं कि 10 से लेकर 15 साल तक की उम्र के बच्चों के नाम मतदाता सूची में जुड़े हुए प्राप्त हुए हैं।
             मतदाता सूची में सैकड़ों की संख्या में ऐसे मतदाताओं के नाम जोड़े गये हैं, जिनके फोटोग्राफ तो एक हैं, किंतु नाम, उम्र उनके फोटो से मेल नहीं खाते हैं।
             प्रदेश कांग्रेस की ओर से मंुगावली-कोलारस के संबंध में लगातार शिकायतें की जा रही हैं कि भाजपा द्वारा मतदान को प्रभावित करने के लिए जातिवर्ग विशेष के विधायकों को जोड़कर उन्हें मंत्री बना दिया गया, जिससे कि चुनाव प्रभावित हो।
             भाजपा सांसद श्री प्रभात झा द्वारा 1000-1000 रू. मतदाताओं के खाते मंे जमा कराने की शिकायत की गई। किसानों को भ्रमित करने के लिए किसान सम्मेलन आयोजित किया गया, जिसमें चुनावी घोषणाऐं कर चुनाव प्रभावित करने की कोशिश की गई।
             इस सब से साफ है कि सत्तारूढ़ भाजपा ऐन-केन-प्रकारेण मुंगावली-कोलारस के विधानसभा  उपचुनाव में गडबड़ी कर रही है, क्योंकि प्रदेश कांग्रेस द्वारा की गई शिकायतों पर चुनाव आयोग ने कोई गंभीर कार्यवाही नहीं की है।
             हमारी यह भी मांग है कि प्रदेश में वर्ष 2018 में होने वाले विधानसभा चुनाव से संबंधित मतदाता सूचियों का पुर्ननिरीक्षण किया जाये।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.