Monday, 13 November 2017

कौशल उन्नयन पाठ्यक्रमों को उद्योग जगत की आवश्यकतानुसार अद्यतन किया जाए

कौशल उन्नयन पाठ्यक्रमों को उद्योग जगत की आवश्यकतानुसार अद्यतन किया जाए
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवेश के नवीन प्रस्तावों पर की अधिकारियों से चर्चा
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने युवाओं के लिये आधुनिकतम टेक्नॉलॉजी में रोजगार के अवसर और अधिक बढ़ाने के लिये इनोवेटिव टेक्नॉलॉजी के शिक्षण-प्रशिक्षण के प्रयासों को और अधिक प्रभावी बनाने के निर्देश दिये हैं। श्री चौहान आज अधिकारियों के साथ निवेश के नवीन प्रस्तावों पर चर्चा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योग जगत की आधुनिक आवश्यकताओं के अनुसार कौशल उन्नयन पाठ्यक्रमों को अद्यतन किया जाए। नवाचारी प्रशिक्षण और प्रवर्तन की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। इस अवसर पर उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल और मुख्य सचिव श्री बी.पी. सिंह भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री को चर्चा के दौरान नेट लिंक कंपनी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अनुराग श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदेश में उनके संस्थान के 20 वर्ष पूरे हो रहे हैं। संस्थान द्वारा शीघ्र ही अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में आधुनिकतम तकनीक में दक्ष कार्यपालक तैयार करने की नवीन परियोजना प्रस्तावित है। आर्टीफीशियल इन्टेलिजेंस और रोबोटिक्स जैसे विशिष्ट कौशल में दक्ष श्रम शक्ति निर्माण के लिये टेक्नॉलॉजी पार्क विकसित करना विचाराधीन है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अशोक बर्णवाल एवं श्री एस.के. मिश्रा, प्रमुख सचिव वाणिज्य एवं उद्योग श्री मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव राजस्व श्री अरुण पांडेय, राजस्व सचिव श्री हरिरंजन राव और प्रबंध संचालक ट्राइफेक श्री डी.पी. आहूजा भी मौजूद थे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.