Tuesday, 7 November 2017

महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस ने तीन दिन में मांगा जाँच प्रतिवेदन

बारह वर्षीय पीड़ित बालिका प्रकरण
महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस ने तीन दिन में मांगा जाँच प्रतिवेदन


महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने भोपाल रेलवे स्टेशन पर तीन नवंबर को जीआरपी को मिली पीड़ित और गर्भवती 12 वर्षीय बालिका को उचित सहायता उपलब्ध नहीं कराने के मामले में जाँच के आदेश दिये है। श्रीमती चिटनिस ने प्रमुख सचिव महिला बाल विकास को तीन दिन में जाँच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिये है।

श्रीमती चिटनिस पीड़िता से मिलने सुल्तानियां जनाना अस्पताल भी पहुँचीं। उन्होंने पीड़िता के इलाज के बारे में चिकित्सकों से जानकारी ली और अधीक्षक डॉ. करण पीपरे को आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने पीड़िता को हरसंभव चिकित्सा, कानूनी-आश्रय और पुर्नवास संबंधी मदद तत्काल उपलब्ध कराने के लिये प्रमुख सचिव महिला बाल विकास को निर्देश दिये हैं। उल्लेखनीय है कि पीड़ित बालिका को आवश्यक इलाज और सहायता उपलब्ध कराने में संबंधित संस्थाओं की लापरवाही सामने आई थी।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.