Tuesday, 7 November 2017

महिला सुरक्षा के लिए कैंडल मार्च

महिला सुरक्षा के लिए कैंडल मार्च
- भोपाल गैंगरेप का जताया विरोध
- लाइट बंद करके न्यू मार्केट के व्यापारियों ने किया समर्थन




देश और प्रदेश में महिलाओं पर प्रतिदिन अपराध बढ़ते जा रहे हैं। बलात्कार की घटनाओं ने लोगों को सहमा दिया है। गांव ही नहीं, शहरों में तक महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। इस बीच प्रशासन का रवैया भी बेहद असंवेदनशील हुआ है। इसी लापरवाही के चलते मप्र के राजधानी भोपाल के ह्दय स्थल में एक छात्रा गैंगरेप का शिकार हो गई। अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि उन्होंने पुलिस चौकी से 100 मीटर के अंदर ही गैंगरेप को अंजाम दिया। अमानवीयता यहीं नहीं थमी, शिकायतकर्ता को पुलिस ने तवज्जो नहीं दी और 24 घंटे तक एफआईआर दर्ज नकी की गई। इस घटना से राजधानी की महिलाओं में आक्रोश व्याप्त है। इस घटना का विरोध जताते हुए शहर की महिलाओं और जागरुक लोगों और सामाजिक संगठनों ने मंगलवार को कैंडल मार्च निकाला। यह कैंडल मार्च रोशनपुरा चौराहे से होते हुए पूरे न्यू मार्केट क्षेत्र में निकाला गया। महिलाओं ने शासन व प्रशासन के प्रति गुस्सा जताते हुए मांग की कि महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जाये। इसके साथ ही पुलिस भी संवेदनशील बने। कैंडल मार्च के दौरान राजधानी के न्यू मॉर्केट क्षेत्र के दुकानदारों ने लाइट बंद कर कैंडल मार्च का समर्थन किया। जैसे-जैसे कैंडल मार्च आगे बढ़ा, लोग भी इसमें शामिल होते गए। कैंडल मार्च में रुचिका सचदेवा, ट्विंकल जैन, रेखा शर्मा, सपना चौधरी, सुजाता पुरी, अजिता असनानी, चाक्षी सचदेवा, भूमिका छाजेड़, श्रीमोहि कल्याणी, स्मृति अग्रवाल, मनीषा छाजेड़ मुख्यरूप से शामिल रहीं। इसके साथ न्यू मार्केट व्यापारी महासंघ से शशांक जैन, हरजेश राय, सुदीप गुप्ता, महेश खुराना, जय चावला, कमल गौड़, अभिनव कासलीवाल भी कैंडल मार्च में शामिल हुए। लायंस क्लब (प्रताप), संत विद्यासागर शिक्षा समिति, लायनेस क्लब (चार्टर) संगठन भी मार्च में शामिल हुए।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.