Monday, 13 November 2017

होम्योपैथी कॅरियर काउंसिलिंग के लिए शुरू हुआ फर्स्ट स्टेप कार्यक्रम

होम्योपैथी कॅरियर काउंसिलिंग के लिए शुरू हुआ फर्स्ट स्टेप कार्यक्रम
स्वास्थ्य मंत्री श्री रुस्तम सिंह ने किया शुभारंभ
देश में पहली बार मध्यप्रदेश में राज्य होम्योपैथी परिषद द्वारा होम्योपैथी के इंटर्नशिप कर रहे छात्र-छात्राओं के लिए कॅरियर काउंसिलिंग कार्यक्रम 'फर्स्ट स्टेप' शुरू किया गया है। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुष मंत्री श्री रुस्तम सिंह ने आज कार्यक्रम का शुभारंभ किया। प्रमुख सचिव आयुष श्रीमती शिखा दुबे, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा श्रीमती गौरी सिंह, मध्यप्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति श्री आर.एन. शर्मा और परिषद की रजिस्ट्रार श्रीमती आयशा अली भी कार्यक्रम में उपस्थित थे।

श्री रुस्तम सिंह ने नवाचार की प्रशंसा करते हुए कहा कि सफलता हमेशा कठिन परिश्रम के बाद ही मिलती है। कॅरियर काउंसिलिंग से छात्र-छात्राओं को मार्गदर्शन मिलने से सफलता आसान हो जाएगी। उन्होंने छात्र-छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना की। श्री सिंह ने कहा कि इलाज की कोई भी विधा कमतर नहीं है। एलोपैथी के साथ ही होम्योपैथी, आयुर्वेद और यूनानी का अपना विशिष्ट स्थान है।

दो दिवसीय कार्यशाला के पहले दिन मुम्बई के सुप्रसिद्ध होम्योपैथी विशेषज्ञ डॉ. जवाहर शाह ने पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन दिया। तकरीबन 100 देशों में लोकप्रिय हो चुके इस सॉफ्टवेयर को छात्र-छात्राओं द्वारा बहुत पसंद किया गया है। कुलपति डॉ. शर्मा ने बताया कि उनका विश्वविद्यालय अगले वर्ष से सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने वाले होम्योपैथी छात्र को गोल्ड मैडल से सम्मानित करने पर विचार कर रहा है। साथ ही, एक जर्नल भी प्रकाशित किया जाएगा, जिसमें होम्योपैथी में शोध कार्य करने वाले विद्यार्थियों के आलेख प्रकाशित होंगे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.