Saturday, 4 November 2017

अगले 30 वर्षों में उच्च मध्यमवर्गीय होगी भारतीय अर्थव्यवस्था

अगले 30 वर्षों  में उच्च मध्यमवर्गीय होगी भारतीय अर्थव्यवस्था 


ईज ऑफ डूइंग बिजनस, 2018 में भारत को 30 स्थान की जंप देने वाले वर्ल्ड बैंक का मानना है कि भारत अगले 30 साल में उच्च मध्यमवर्गीय अर्थव्यवस्था  बन जाएगी। विश्व बैंक ने शनिवार को कहा कि जीएसटी और अन्य सुधारों से भारत की अर्थव्यवस्था का स्तर बढ़ेगा।
विश्वबैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) क्रिस्टालीना जॉर्जिवा ने भारत में प्रति व्यक्ति आय बढ़ कर चार गुना होने को एक असाधारण उपलब्धि बताया। उन्होंने इसका श्रेय देश में पिछले तीन दशक के सुधारों को दिया। उन्होंने कारोबार सुगमता रिपोर्ट में 100वां स्थान हासिल करने को लेकर भी भारत की तारीफ की। उन्होंने कहा कि 15 साल पहले शुरू हुई इस रैंकिंग में इतनी जंप देखने को नहीं मिली है।
उन्होंने कहा, 'जब हम भारत के विशाल आकार पर गौर करते हैं तो यह उपलब्धि विशेष रूप से और भी विरली हो जाती है। मैं समझ सकती हूं कि क्रिकेट प्रेमी इस देश के लिए शतक जड़ना एक बहुत ही महत्वपूर्ण उपलब्धि है।' वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा दिल्ली में आयोजित इंडियाज बिजनस रिफॉर्म कार्यक्रम में उन्होंने कहा, 'सफलता के लिए जरूरी है कि उच्च स्तर पर उसे अपनाने और आगे बढ़ाने वाले हों। हमने सीखा हैं कि सुधारों के लिए धैर्य की जरूरत होती है। भारत के बारे में हमारी मान्यता है कि आज की ये सफलताएं भविष्य के सुधारों के लिए और अधिक ऊर्जा के रूप में काम आएंगी।'

विश्वबैंक की अधिकारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुधार की कोशिशों की सराहना करते हुए कहा कि जीएसटी ने भारत के सामने एकीकृत समान बाजार के जरिए तेजी से वृद्धि का अनोखा अवसर पैदा किया है। उन्होंने कहा कि सुधारों का असर प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) पर दिखने लगा है। एफडीआई 2013-14 के 36 अरब डॉलर से बढ़कर 60 अरब डॉलर हो गया है।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.