Monday, 2 October 2017

होशंगाबाद जिला हुआ खुले में शौच से पूर्णत: मुक्त : मुख्यमंत्री श्री चौहान



होशंगाबाद जिला हुआ खुले में शौच से पूर्णत: मुक्त : मुख्यमंत्री श्री चौहान
स्वच्छता सम्मान समारोह में पंचायतों के स्वच्छता दूत हुए सम्मानित 
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज होशंगाबाद में आयोजित समारोह में होशंगाबाद जिले के खुले में शौच से पूर्णत: मुक्त (ओ.डी.एफ) होने की घोषणा की। उन्होंने इस अवसर पर आयोजित सम्मान समारोह में कहा कि जहां स्वच्छता का वास होता है, वहां ईश्वर का वास होता है। स्वच्छता के दूत महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय लाल बहादुर शास्त्री को स्मरण करते हुए उन्होने कहा कि गांधी जी स्वयं स्वच्छता के हिमायती थे। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छता के प्रति देशवासियों का नजरिया बदल दिया है। पहले लोग सड़कों पर, दफ्तरों में कचरा फैलाया करते थे, किन्तु अब लोगों का नजरिया बदल गया है। अब लोग कचरा डस्टबिन में डालते हैं। मुख्यमंत्री ने होशंगाबाद की सभी ग्राम पंचायतों के खुले में शौच मुक्त होने की सराहना करते हुए कहा कि यह सब यहां की जनता, जन-प्रतिनिधियों, जिला प्रशासन और पंचायत कर्मियों के प्रयासों से ही संभव हो पाया है। उल्लेखनीय है कि होशंगाबाद जिले की 424 ग्राम पंचायत खुले में शौच से मुक्त हो चुकी हैं। इन ग्राम पंचायातों में 883 गांव शामिल हैं। ग्रामीण विकास विभाग एवं जिला प्रशासन द्वारा इन ग्राम पंचायतों में 57 हजार 855 शौचालयों का निर्माण कराया गया है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शौचालय तो बन गये हैं, लोग उनका उपयोग भी करें। शौचालय का उपयोग करने की आदत डालें। शौचालय में भी साफ-सफाई रखें और अपने हाथ साबुन से अवश्य धोएं। श्री चौहान ने कहा कि हमें अब अपनी मानसिकता बदलनी होगी। इससे हमारे घर की मर्यादा भी बनी रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होने नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान प्रण किया था कि मां नर्मदा को स्वच्छ बनाएंगे। इसके लिये सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट हेतु 155 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट से सीवेज के पानी को शुद्ध कर खेती में उपयोग किया जाएगा। इस बात का विशेष ध्यान रखा जाएगा की सीवेज के पानी की एक बूंद भी मां नर्मदा में न मिले।
श्री चौहान ने कहा कि स्वच्छता के मामले में इंदौर जिला देश का नम्बर एक जिला घोषित हुआ है। उन्होने नगरपालिका अध्यक्ष श्री अखिलेश खंडेलवाल को निर्देश दिये कि स्वच्छता के मामले में होशंगाबाद जिले को देश का अव्वल जिला बनायें। मुख्यमंत्री ने प्रदेश मे बनाये गये 2 लाख प्रधानमंत्री आवासों की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह सब पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अथक प्रयासों से संभव हो सका है। आने वाले 4-5 वर्षों मे हर गरीब के पास पक्की छत होगी। उन्होंने कहा कि रेत खनन की अनुमति अब ग्राम पंचायतें देंगी।
स्वच्छता समारोह में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-स्वच्छता दूत बनने पर जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री कुशल पटेल, कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री पी.सी.शर्मा एवं जिला समन्वयक की पूरी टीम को मुख्यमंत्री स्वच्छता सम्मान पुरस्कार प्रदान किया। इसके अलावा अनुविभागीय अधिकारियों, मुख्य कार्यपालन अधिकारियों एवं ब्लॉक को-ऑर्डिनेटर्स को पुरस्कार प्रदान किये। मुख्यमंत्री ने स्वच्छ ग्राम पंचायत पुरस्कार से सरपंचों को पुरस्कृत किया। मुख्यमंत्री ने गांव-गांव स्वच्छता का अलख जगाने वाली बालटोली मुहांसा को स्वच्छता का प्रमाण पत्र प्रदान किया। किशोरी स्वच्छता पुरस्कार के अंतर्गत मुख्यमत्री ने प्रियंका यदुवंशी को तथा स्वच्छता का संदेश घर-घर पहुँचाने वाली भजन मंडली झंकर पगढाल को तथा किशोरी टोली की बालिकाओ को भी पुरस्कार प्रदान किया। उन्होने प्रेरक मंडल प्रणेताओं को सम्मनित किया।

इस अवसर पर मध्यप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष डा.सीताशरण शर्मा ने आशा व्यक्त की कि मध्यप्रदेश स्वच्छता के क्षेत्र में देश का अव्वल राज्य बनेगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि प्रदेश में सभी तहसील शत-प्रतिशत सिंचाई की स्थिति में हैं। प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाया गया है। अगले वर्ष 52 हजार गांव पुल-पुलियों से जुड़ जायेंगे। प्रधानमंत्री आवास बनाने में मध्यप्रदेश देश का नंबर वन राज्य बन गया है। श्री भार्गव ने कहा कि आने वाले समय में समूचा प्रदेश खुले में शौच से मुक्त हो जाएगा।

समारोह का शुभारंभ मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पर दीप प्रज्जवलित कर किया। जिला पंचायत अध्यक्ष श्री कुशल पटेल ने अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम में खाद्य प्रसंस्करण, उद्यानिकी एवं वन राज्यमंत्री श्री सूर्य प्रकाश मीणा, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिव चौबे, मध्यप्रदेश वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के अध्यक्ष श्री राजेन्द्र सिंह, विधायक श्री सरताज सिंह, श्री विजयपाल सिंह, श्री ठाकुरदास नागवंशी, पूर्व राजस्व मंत्री श्री मधुकरराव हर्णे, राज्य अंत्योदय समिति के सदस्य श्री हरिशंकर जायसवाल, स्थानीय जनप्रतिनिधि सहित अपर मुख्य सचिव श्री आर.एस.जुलानिया भी उपस्थित थे।

सूदखोरों के विरूद्ध इसी सत्र में कानूनी प्रावधान तय होंगे

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वच्छता सम्मान समारोह में जिले में विभिन्न निर्माण कार्यो का लोकार्पण एवं भूमि-पूजन किया। उन्होंने कन्याओं का पूजन करते हुए कहा कि सरकारी नौकरियों में बेटियों के लिए 50 प्रतिशत सीटें आरक्षित की गई हैं। किसानों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कम वर्षा को देखते हुए कम पानी वाली फसल लें और फसल बदल-बदल कर बोनी करें। उन्होंने कहा कि जल्द ही जगह-जगह कस्टम हायरिंग सेंटर खोले जाएंगे। किसानों को परेशान करने वाले सूदखोरो के विरूद्ध इसी सत्र में कानूनी प्रावधान तय होंगे। उन्होंने हर व्यक्ति को स्वच्छता की आदत अपनाने की सीख दी और स्वच्छता की शपथ भी दिलाई। मुख्यमंत्री ने विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीताशरण शर्मा से उनके घर पहुँचकर भेंट की। तत्पश्चात मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय विद्यालय में पौध रौपण भी किया।

मुख्यमंत्री ने सफाई कामगारों को खुद परोसा भोजन

श्री शिवराज सिंह चौहान होशंगाबाद में एसएनजी स्कूल मैदान परिसर में आयोजित समरसता भोज में शामिल हुए। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्म दिवस पर आयोजित इस सहभोज में मुख्यमंत्री ने सफाई कामगार भाईयों तथा बहनों को अपने हाथों से भोजन परोसा तथा खिलाया। उन्होंने सफाई कामगार के हाथ भोजन ग्रहण कर समरसता भोज में भागीदारी की। उन्होंने कहा कि नगर को स्वच्छ रखकर भगवान से भेंट कराने वाले हमारे सफाई कामगार ही है।

समरसता भोज में विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीताशरण शर्मा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव, जिले के प्रभारी मंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा, विधायक श्री विजय पाल सिंह, श्री ठाकुरदास नागवंशी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री कुशल पटेल, नगरपालिका अध्यक्ष श्री अखिलेश खंडेलवाल, पूर्व मंत्री श्री मधुकर हर्णे, श्री हरिशंकर जयसवाल, पार्षद गण तथा जनप्रतिनिधि शामिल हुए।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.