Friday, 13 October 2017

महापौर ने किया 20 टन क्षमता के बायो मिथेनाइजेशन प्लांट का भूमिपूजन -

महापौर ने किया 20 टन क्षमता के बायो मिथेनाइजेशन प्लांट का भूमिपूजन -
चोइथराम सब्जी मंडी प्रांगण में 20 टन क्षमता के अत्याधुनिक बायो मिथेनाइजेशन संयंत्र निर्माण कार्य का भूमिपूजन शुक्रवार को महापौर मालिनी गौड़ ने किया। इस प्लांट के निर्माण पर 7.20 करोड़ रूपये खर्च होंगे। भूमिपूजन मौके पर निगम कमिश्नर मनीष सिंह, एमआईसी मेंबर बलराम वर्मा, सूरज कैरो, पार्षद सुरेन्द्र सिंह छाबड़ा, निर्माण एजेंसी के ललित तिवारी, डॉ. सुभाष सहित विभागीय अध‍िकारी मौजूद थे।


भूमिपूजन समारोह को सम्बोधित करते हुए महापौर मालिनी गौड़ ने कहा कि इस संयंत्र के स्थापित होने के बाद चोईथराम मंडी से निकलने वाले वेस्ट से यहां जो गैस के रूप में जो ईंधन बनेगा, उसी से लोक परिवहन की बसों का संचालन किया जाएगा। संयंत्र के पास ही गैस का पम्पिंग स्टेशन निर्मित किया जायेगा, जहां से बसों में गैस भरी जायेगी। इसी संयंत्र से लगभग 10 टन जैविक खाद भी बनेगी, जो किसानों को उचित मूल्य पर बेची जायेगी। उन्होंने बताया कि संयंत्र के निर्माण के बाद इसका संचालन व संधारण भी महेन्द्र एण्ड महेन्द्र कम्पनी करेगी। यहां बनने वाली मिथेन गैस की रिफाइनिंग के लिए एक यूनिट भी लगाई जायेगी, रिफाइनिंग के बाद गैस को कम्प्रेस कर सिलेंडरों में भरा जायेगा, उसके बाद इसे बायो ईंधन में परिवर्तित किया जायेगा। करीब 20 टन अतिरिक्त निकलने वाले जैविक कचरे के निपटान के लिए पिट कम्पोस्ट‍िंग यूनिट व वर्मी कम्पोस्ट‍िंग यूनिट की स्थापना भी नगर निगम द्वारा चोइथराम मंडी में की जा रही है। कम्पोस्ट‍िंग यूनिट के माध्यम से प्रतिदिन 5-7 टन जैविक कचरे को खाद में परिवर्त‍ित किया जायेगा।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.