Thursday, 5 October 2017

महर्षि वाल्मिकी के बिना भगवान श्री राम का वर्णन अधूरा : मुख्यमंत्री श्री चौहान



महर्षि वाल्मिकी के बिना भगवान श्री राम का वर्णन अधूरा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने महर्षि वाल्मिकी जयन्ती के अवसर पर आज उज्जैन में श्री वाल्मिकीधाम सिद्धपीठ मन्दिर में महर्षि वाल्मिकी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पूजन-अर्चना की। मुख्यमंत्री ने परिसर में सन्त स्वामी श्री सोहनदासजी महाराज की समाधि पर भी पुष्प अर्पित किये और वाल्मिकीधाम के संस्थापक सन्त बालयोगी श्री उमेशनाथजी महाराज से उनके आश्रम में भेंटकर आशीष प्राप्त किया।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर कहा कि मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्री राम की छवि को मानस पटल पर सदा के लिये अंकित करने वाले महर्षि वाल्मिकी हैं। महर्षि वाल्मिकी के बिना भगवान श्री राम का वर्णन अधूरा है। महर्षि वाल्मिकी ने रामायण में भगवान श्री राम के चरित्र का जो वर्णन किया है, वह अदभुत और अविस्मरणीय है। मुख्यमंत्री ने लोगों को वाल्मिकी जयन्ती की शुभकामनाएं दीं।

इस दौरान ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन, सांसद डॉ.चिन्तामणि मालवीय, विधायक डॉ.मोहन यादव, महापौर श्रीमती मीना जोनवाल, उज्जैन विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री जगदीश अग्रवाल, मप्र जनअभियान परिषद के उपाध्यक्ष श्री प्रदीप पाण्डेय, श्री अशोक प्रजापत, श्री सोनू गेहलोत एवं जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.